कटिहार: शराब के धंधेबाजों ने उत्पाद विभाग एवं पुलिस की दबिश से बचने के लिए शराब की तस्करी को लेकर तस्कर गिरोह नई तरकीब अपना रहा है। तस्करी के धंधे में तस्करों ने गिरोह में कमीशन के आधार पर कई महिलाओं को शामिल कर रखा है। एक सप्ताह के भीतर उत्पाद विभाग व स्थानीय पुलिस ने देसी व विदेशी शराब के साथ आधा दर्जन महिलाओं को गिरफ्तार किया है। शराब तस्करों ने अवैध रूप से शराब की बिक्री के लिए महिलाओं को कुरियर के रूप में इस्तेमाल करने का ट्रेंड अख्तियार किया है। प्रति लीटर देसी शराब एवं विदेशी शराब की टेट्रा पैक बेचने पर कमीशन का भुगतान महिलाओं को तस्करों द्वारा किया जाता है। छापामारी में गिरफ्तार कई महिलाओं ने खुलासा किया कि शराब बेचने के लिए धंधेबाज एजेंट के माध्यम से शराब की खेप पहुंचाते हैं। शराब बेचने के एवज में उन्हें कमीशन मिलता है। शहर से सटे ग्रामीण इलाके एवं आदिवासी बाहुल्य गांवों में गरीब तबके की महिलाओं को रूपये का प्रलोभन देकर इस अवैध कारोबार में शामिल किया जा रहा है। कोढ़ा प्रखंड के जुराबगंज गांव में भी पुलिस छापेमारी में विदेशी शराब के महिला की गिरफ्तारी हुई थी। शहरी क्षेत्र में भी शराब की डिलीवरी के लिए तस्करी के धंधे में शामिल महिलाओं को ढाल के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है।

Posted By: Jagran