जागरण संवाददाता, कटिहार: प्रखंड शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (बाइट) मूसापुर में डीएलएड के सत्र 2021-23 में नामांकन के नाम पर अभ्यर्थी से ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। ठगी का यह सिलसिला लगभग दो सप्ताह से चल रहा है। इस मामले में कालेज के प्रभारी प्राचार्य की ओर से स्थानीय कोढ़ा थाने में आवेदन भी दिया गया। साइबर क्राइम का मामला बताकर आवेदन नहीं लिया गया। ठगी के शिकार अभ्यर्थी से आनलाइन पेमेंट लिया गया है। इस ठगी के खेल का खुलासा तब हुआ जब अभ्यर्थी नामांकन के लिए कालेज पहुंचने लगे। नामांकन के नाम पर एक अभ्यर्थी से 30 हजार तक की ठगी की गई है। यह ठगी पहले इम्तियाज आलम के नाम से तो बाद में आलोक कुमार नाम बताकर की गई है। वहीं ठगी के लिए फोन काल भी दो अलग-अलग नंबर से की गई है।

ठगी के शिकार अभ्यर्थी ज्ञानेंदु कुमार ने बताया कि उन्हें छह नवंबर को डीएलएड में नामांकन के लिए फोन आया था। फोन करने वाला अपने को कालेज का कर्मचारी बता रहा था। उसके बताए खाते में गुगल पे फोन से पहले 2500, फिर 4500 का ट्रांजक्शन किए। उसके बाद निशक्त प्रमाण पत्र के नाम पर 9500 की मांग की गई। इसके बाद शंका हुई।

मरंगी मदारपुर के मु गुलाम सरवर ने भी नामांकन के नाम पर ठगी किए जाने की शिकायत कालेज के प्राचार्य से की है। बाइट मूसापुर में डीएलएड कोर्स में नामांकन के नाम पर पांच हजार रूपए गूगल पे फोन के माध्यम से मांगा गया। पुन: बाद में पांच हजार की मांग करने पर संदेह हुआ। जिसके बाद कालेज कार्यालय से संपर्क करने पर पता चला कि पुन: एक व्यक्ति से नामांकन के नाम पर 17,500 की ठगी कर ली गई है। इसी तरह हेमा प्रवीण ने भी ठगी की शिकायत कालेज से की है। फर्जी काल से रहें सावधान

अभ्यर्थी द्वारा ठगी की शिकायत के बाद कालेज की ओर से फर्जी काल से सावधान रहने संबंधी सूचना कालेज के वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया है। आवेदक वेबसाइट पर दिए गए संस्थान के कर्मियों के नंबर पर किसी भी प्रकार की सूचना एवं संपर्क कर नामांकन से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Edited By: Jagran