कैमूर, जेएनएन।  चैनपुर थाना क्षेत्र के ग्राम सिकंदरपुर में शुक्रवार को मां सरस्वती की प्रतिमा विसर्जन के क्रम में जेवरी माई के स्थान पर हवन पूजा के लिए ले जाने के समय दो पक्षों के बीच विवाद हो गया। बात बढ़ते-बढ़ते दोनों तरफ से पथराव शुरू हो गया। इसी दौरान दूसरे पक्ष की तरफ फायरिंग शुरू कर दी गई। पथराव में कई लोगों को चोटें भी आई हैं।

स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के अनुसार गांव में स्थापित की गई सभी प्रतिमाओं को एक साथ भ्रमण कराया जा रहा था। इसी क्रम में प्रतिमा विसर्जन के पूर्व जेवरी माई के स्थान पर प्रतिमा को रखकर हवन पूजा करवाने के लिए स्थानीय लोग ले जा रहे थे। इसी क्रम में बगल में बांस के सहारे लगाया गया झंडा नाचने गाने के दौरान युवकों से उखड़ गया। जिस पर दूसरे पक्ष के लोग नाराज हो गए और पथराव शुरू कर दिए। जिससे अफरातफरी का माहौल उत्पन्न हो गया।

स्थानीय लोगों के द्वारा बीच-बचाव किया जाने लगा। बीच बचाव के दौरान गांव के पूर्व मुखिया अनिल सिंह पटेल एवं राजा खां भी मौजूद थे। दूसरे पक्ष के पत्थर से ही राजा खां को चोट लगने की बात बताई जा रही है। जिसमें राजा खां का सिर फट गया। जिसके बाद दूसरे पक्ष की तरफ से गोलियां चलने लगी।

मौके पर मौजूद प्रशासन के द्वारा बीच-बचाव करते हुए मामले को सुलझाने का प्रयास किया गया और इसकी सूचना वरीय पदाधिकारी को दी गई। सूचना पर तत्काल भभुआ एसडीओ जन्मेजय शुक्ला और एसडीपीओ अजय प्रसाद पहुंच कर लोगों को समझाने का प्रयास शुरू किए। लेकिन प्रतिमा टूटने से आक्रोशित पहले पक्ष के लोगों के द्वारा प्रशासन पर ही पथराव शुरू कर दिया गया।

पहले पक्ष के लोग पथराव से प्रतिमा टूटने और गोली चलाने वालों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गए। मामले को सुलझाने के प्रयास में प्रशासन जुटी है। इस विवाद के बाद सिकंदरपुर गांव में तनाव का माहौल कायम है।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस