जिलाधिकारी डॉ. नवल किशोर चौधरी के कुशल मार्गदर्शन में कैमूर प्रशासन पूरे प्रदेश में एक नया इतिहास का अध्याय जोड़ दिया। शनिवार को बेरोजगार युवाओं को रोजगारपरक बनाने को लेकर रूझान मोबाइल एप को लांच किया गया। इससका विधिवत उद्घाटन जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में किया। इस मौके पर जिले के वरीय पदाधिकारियों में वरीय उप समाहर्ता रमेश चंद्र चौधरी, अवर निबंधक तारकेश्वर पांडेय, डीएम के ओएसडीए अशोक दास, जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी राजीव कुमार ¨सहा के अलावा जिला निबंधन परामर्श केंद्र के पदाधिकारियों के अलावा सीएससी के संचालक उपस्थित थे।

15 से 35 आयु वर्ग के युवक-युवतियों को इस एप का लाभ मिलेगा। इस एप के माध्यम से युवाओं से आवेदन पत्र आमंत्रित किए जाएंगे। जिसके बाद उन्हें संबंधित विशेषज्ञ प्रशिक्षण देंगे। ताकि वे जिस क्षेत्र में जाना चाहते हैं उन्हें सही मार्गदर्शन मिल सके। प्रशिक्षण के दौरान प्रशासनिक पदाधिकारी, न्यायिक पदाधिकारी, चिकित्सक, संगीतज्ञ, शिक्षक व अन्य क्षेत्रों के लोगों द्वारा युवाओं को प्रशिक्षण देकर मार्गदर्शन उपलब्ध कराया जाएगा। प्राप्त आवेदनों को लेकर कलेक्ट्रेट सभाकक्ष, लिच्छवी भवन, डीआरसीसी, बहुद्देशीय भवन व अस्पताल के सभागार में ओटीपी के माध्यम से प्राप्त अभ्यर्थियों की संख्या के अनुसार प्रशिक्षण दिलाने की व्यवस्था की जाएगी। डीएम ने प्रशिक्षण के दौरान उपस्थित सीएससी के संचालकों से कहा कि इस एप के बारे में अपने-अपने पंचायत स्तर पर अधिक से अधिक प्रचार -प्रसार करें। ताकि जिले के युवा प्रशिक्षण प्राप्त करके अपनी सोच के प्रति रोजगार को प्राप्त कर सकें।

एप का उद्देश्य -

1. रोजगार, कौशल विकास की तलाश करते युवाओं के ब्योरे को संग्रहित करना।

2. नौकरी, रोजगार तलाशने वालों का अनुमान लगाने के लिए जिला प्रशासन को सक्षम करना।

3. युवाओं के बीच उद्यमिता को बढ़ावा देना।

4. कुशल युवाओं का डेटाबेस तैयार करना और नौकरी या रोजगार की तलाश सुविधाजनक बनाना।

5. रोजगार, का मांग के अनुरूप क्षेत्रवार विश्लेषण

6. मांग के अनुसार प्रशिक्षण कार्यक्रम की योजना बनाना एवं प्रशिक्षण संस्थानों, सुगमकर्ताओं के लिए सुविधाजनक बनाना।

Posted By: Jagran