मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

डीएम डॉ. नवल किशोर चौधरी ने नगर में स्थित सुअरन नदी तट के समीप कल्याण विभाग द्वारा संचालित अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति आवासीय विद्यालय का औचक निरीक्षण शनिवार को किया। इस दौरान एसडीएम भभुआ जन्मेजय शुक्ला भी उपस्थित रहे। निरीक्षण के दौरान विद्यालय के प्रधानाध्यापक निरंजन कुमार ने बताया कि छात्रावास के अधीक्षक सत्येंद्र कुमार आजाद का दो जुलाई को गया के आमस में स्थानांतरण कर दिया गया था। बावजूद इसके समय से प्रभार नहीं दिया गया। इस कारण काफी परेशानी हो रही है। इधर, 19 अगस्त को अधीक्षक ने एचएम को अपना प्रभार तो दे दिया, लेकिन पूर्व में पुस्तक वितरण के संबंध में ली गई राशि वापस नहीं की गई। जिससे छात्रों के बीच पुस्तक वितरण करने में परेशानी हो रही है।

डीएम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए एचएम को निर्देशित किया कि उक्त अधीक्षक द्वारा अब तक प्रभार नहीं दिए जाने व प्रभार में अब तक सौंपी गई पंजी की रिपोर्ट बना कर तत्काल सौंपे। रिपोर्ट के आधार पर उपरोक्त अधीक्षक के विरुद्ध विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी। वहीं अनियमितता मिलने पर डीएम भीड़ गए। विद्यालय व छात्रावास में समुचित सफाई नहीं होने पर उन्होंने अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देशित किया कि विद्यालय परिसर में गंदगी की सफाई कराई जाए। डीएम के निर्देश पर एसडीएम द्वारा नगर परिषद भभुआ को विद्यालय परिसर की सफाई के लिए कहा गया। नगर परिषद द्वारा जेसीबी मशीन से तत्काल सफाई का कार्य प्रारंभ किया गया। विद्यालय के छात्रावास में रह रहे छात्रों के बारे में जानकारी डीएम ने प्राप्त की। उन्होंने विद्यालय के एचएम व छात्रावास के अधीक्षक को निर्देशित किया कि छात्रावास में रहने वाले बच्चों की व्यवस्था वर्गवार निर्धारित की जाए। छात्रावास में रहने वाले छात्रों के कमरे के बाहर रहने वाले छात्रों के नाम की सूची भी लगाई जाए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप