राज्य सरकार के द्वारा जल जीवन हरियाली मिशन का शुभारंभ आगामी दो अक्टूबर से होगा। मिशन के तहत जिले के विभिन्न आहर, पईन, पोखर, नहर, कुआं, तालाब एवं अन्य जलस्त्रोतों को अतिक्रमण मुक्त कराया जाएगा। शनिवार को राज्य सरकार के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने जल जीवन हरियाली मिशन को ले वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के माध्यम से पदाधिकारियों से चर्चा की। वीसी के माध्यम से बताया गया कि आगामी दो अक्टूबर गांधी जयंती के अवसर पर जल जीवन हरियाली मिशन का शुभारंभ पटना में मुख्यमंत्री करेंगे। मिली जानकारी के अनुसार, जल जीवन हरियाली मिशन को सफल बनाने के लिए विभागों को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसका मूल उद्देश्य है कि जल संरक्षण करना। इसके लिए जन जागरूकता अभियान विभिन्न माध्यमों से चलाया जाएगा। विभागों को जिम्मेदारी दी गई कि जन जागरूकता के साथ-साथ जलस्त्रोतों के पास सोख्ता का निर्माण कराएंगे। वही पीएचइडी विभाग सार्वजनिक कुओं को पुनर्जीवित कर उनका पुराना स्वरूप प्रदान कराएंगे। इसी प्रकार सिचाई विभाग नदी नहरों को भी अतिक्रमण मुक्त कराने की दिशा में सार्थक कार्य करेंगे। कृषि विभाग जैविक खेती की ओर लोगों को जागरूक करेगा। इस खेती को बढ़ावा देने के साथ-साथ मैदानी व पहाड़ी क्षेत्रों में जल संरक्षण के लिए किसानों को जागरूक करेगा। वन विभाग अधिक से अधिक पौधारोपण करा कर जल संरक्षण की दिशा में कार्य करेगा। वीडियो कॉन्फ्रेंसिग में अपर समाहर्ता सुमन कुमार, उप विकास आयुक्त केपी गुप्ता, निदेशक डीआरडीए अजय कुमार तिवारी, सिविल सर्जन अरुण कुमार तिवारी, जिला कृषि पदाधिकारी ललिता प्रसाद, कार्यपालक अभियंता विद्युत शिवशंकर प्रसाद, कार्यपालक अभियंता पीएचइडी शमी अख्तर, शिक्षा विभाग के कार्यक्रम पदाधिकारी दयाशंकर सिंह सहित अन्य उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस