जिले के शिक्षा विभाग के कई अधिकारियों के फरवरी माह के वेतन पर रोक लगाई गई है। यह कार्रवाई शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आर के महाजन ने की है। इस बारे में पत्र जारी करते हुए सचिव ने कहा है कि जिले में कल्याणकारी योजनाओं को लेकर जिला शिक्षा विभाग से लेकर प्रधानाध्यापक तक गंभीर नहीं हैं। जिससे योजना का लाभ विद्यालय के बच्चों को नहीं मिल पा रहा है। इस बात को गंभीरता से लेते हुए सचिव ने जिले के जिला शिक्षा पदाधिकारी कामेश्वर कामती, डीपीओ नीरज कुमार, सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, सभी प्रखंड साधन सेवी, सभी सीआरसीसी, सभी प्रधानाध्यापक तथा प्रभारी प्रधानाध्यापक के फरवरी माह के वेतन को स्थगित कर दिया है। यह कार्य प्रारंभिक, माध्यमिक, उच्च माध्यमिक के बच्चों को योजनाओं की राशि उपलब्ध नहीं कराने को लेकर कार्रवाई हुई है।

वीसी के माध्यम से भी दिया गया निर्देश- आर के महाजन ने पत्र जारी करते हुए कहा है कि पूर्व में इस विषय को लेकर कई बार वीडियो कान्फ्रेंसिग की गई थी कि विभाग की ओर से आवंटित राशि लाभुक के खाता में भेज दिया जाए। वहीं समीक्षा के क्रम में स्पष्ट हुआ कि उक्त योजनाओं की राशि छात्र-छात्राओं के बैंक खाते में हस्तांतरित होने की स्थिति जिले में ठीक नहीं है। सचिव ने कहा है कि प्रधानाध्यापक राशि हस्तांतरण कर सूची सीआरसी, बीआरसी के माध्यम से प्रखंड शिक्षा कार्यालय में जमा करें। उसके बाद प्रखंड कार्यालय से शिक्षा विभाग के कार्यालय होते हुए विभाग को समर्पित करें। सचिव ने कहा है कि जब तक विभाग को रिपोर्ट मिल नहीं जाती तब तक फरवरी माह में वेतन स्थगित रहेगा।

पत्र जारी होते ही हड़कंप- शिक्षा विभाग के अपर सचिव के पत्र जारी होने के बाद ही शिक्षा विभाग के अधिकारियों तथा कर्मियों में हड़कंप मच गई। इसको लेकर दिन भर प्रधानाध्यापक से लेकर पदाधिकारी कार्य में जुट गए हैं। हालांकि ऐसा ही हाल रहा तो फरवरी माह के अंत तक सभी बच्चों के खाता में राशि उपलब्ध हो जाएगी।

बैंक बन रहा है बाधक- शिक्षा विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक खाता खोलने में बैंक बाधक बन रहा है। जिससे बच्चों का खाता नहीं खुल पा रहा है। ज्यादा परेशानी छोटे बच्चों का खाता खोलने में हो रही है। इसको देखते हुए पूर्व में ही विभाग की ओर से सूचना जारी हुई थी कि छोटे बच्चों के अभिभावक के खाता में राशि डाली जाए। उसके बावजूद भी विभाग लापरवाही बरत रहा था। इसको लेकर अपर सचिव ने वेतन स्थगित किया है।

Posted By: Jagran