जिले के मोहनियां नगर के बड़ी बाजार से पुलिस ने फर्जी चिकित्सक बन मवेशियों को बंधक रख रंगदारी मांगने वाले युवक को गिरफ्तार किया है। जिसके साथ एक वाहन, दो गाय व दो बछड़ा को जब्त करते हुए उसके पैंट के पॉकेट से 26 सौ रुपये भी बरामद हुआ है। गिरफ्तार युवक मोहनियां नगर के तकिया बड़ी बाजार निवासी झुन्नू राय का पुत्र अरमान आलम बताया जाता है। इसके दो साथी फरीद खां का पुत्र दिलशाद खां व फज्जू खां का पुत्र सैमुद्दीन उर्फ सलाउद्दीन फरार हो गए। उक्त दोनों भी तकिया बड़ी बाजार के निवासी ही हैं। यह जानकारी एसपी दिलनवाज अहमद ने सोमवार को पुलिस सभाकक्ष में आयोजित प्रेसवार्ता में दी।

एसपी ने बताया कि वाहन चालक उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिला के फुलवरिया थाना निवासी महावीर प्रसाद का पुत्र संतोष कुमार व मवेशी मालिक भभुआ नगर के पटेल चौक वार्ड नंबर तीन निवासी करिया गद्दी का पुत्र इरफान गद्दी रविवार की सुबह थाना में सूचना दिए कि कुछ लोग अपने को चिकित्सक बता फिटनेस पेपर की मांग कर रहे हैं। नहीं देने पर 20 हजार रुपये मांगे और मारपीट कर गाड़ी से उतार दिए। एक घंटा के अंदर स्टेशन रोड में पैसा लेकर आने की बात कहे। नहीं आने पर गाड़ी व मवेशियों को बंधक बनाने की बात कहे। इस दौरान चालक से 26 सौ रुपये भी छीन लिए।

सूचना पर थानाध्यक्ष सुरेश कुमार सिंह को आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया। इस पर पुअनि सुधांशु शेखर के साथ अन्य पुलिस जवान मौके पर पहुंचे। तब पुलिस को देख गाड़ी में बैठा एक युवक भागने लगा। जिसे पुलिस जवानों ने पकड़ लिया। पकड़ा गया युवक अरमान आलम था। उसने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उनका एक गिरोह है। जो अपने को चिकित्सक बता कर मवेशी गाड़ी के फिटनेस पेपर जांच के नाम पर रंगदारी वसूलते हैं और नहीं देने पर मारपीट करते हैं। उसने अपने साथ के दिलशाद खां व सैमुद्दीन का नाम भी बताया। गिरोह का सरगना दिलशाद खां को बताया। इस मौके पर मोहनियां थाना के थानाध्यक्ष सुरेश कुमार सहित अन्य उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप