जासं, भभुआ: निदेशक एमडीएम ने आइबीआरएस पर विद्यालयों के एचएम से एमडीएम की जानकारी प्रतिदिन मांगी है। लेकिन आइबीआरएस की रिपोर्ट एक माह की देखने पर मामला संज्ञान में आया है कि जिले के 51 विद्यालयों के एचएम ने कॉल रिसिव करने के बाद भी जवाब नहीं दिया है। इस लापरवाही को निदेशक एमडीएम ने गंभीरता से लेकर संबंधित विद्यालयों के एचएम के विरुद्ध विधि सम्मत कार्रवाई करने का निर्देश डीपीओ एमडीएम को दिया है। जिला प्रबंधक एमडीएम विजय कुमार ने बताया कि आइबीआरएस पर लगातार एक माह तक जवाब नहीं देने के कारण एमडीएम की स्थिति की सही जानकारी होने के मामले को गंभीरता से लिया है। उन्होंने बताया कि आइबीआएस की रिपोर्ट के अनुसार जिले के 51 ऐसे विद्यालय चिह्नित हुए हैं जिन्होंने कॉल रिसिव की है परंतु जवाब नहीं दिया है। वहीं 27 ऐसे विद्यालय चिह्नित किए गए हैं जिन्होंने न ही कॉल रिसिव किया है और न ही कोई जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि ऐसे विद्यालयों पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

---------

इंसेट -

31 विद्यालयों में एमडीएम बंद

जासं, भभुआ: आइबीआरएस की रिपोर्ट के मुताबिक जिले में 1203 विद्यालयों में एमडीएम बनाया जाता है। दस सितंबर की रिपोर्ट के अनुसार जिले के 1134 विद्यालयों को राज्य मुख्यालय से एमडीएम की सूचना प्राप्त करने के लिए कॉल किया गया। जिसमें से 797 विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों ने कॉल रिसिव किया और जवाब दिया। शेष विद्यालयों के एचएम ने कोई जवाब नहीं दिया। रिपोर्ट के मुताबिक कुल 31 विद्यालय में एमडीएम बंद है। जिसमें राशि के अभाव में चार, खाद्यान्न के अभाव में 8 व अन्य कारणों से 17, रसोईयां नहीं होने के कारण दो विद्यालयों में एमडीएम बंद है। इस संबंध में पूछे जाने पर जिला प्रबंधक ने बताया कि चिह्नित विद्यालयों को खाद्यान्न व राशि की उपलब्धता के संबंध में प्रखंड साधन सेवियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं।

Posted By: Jagran