कैमूर। जिला मुख्यालय भभुआ नगर सहित सभी प्रखंडों में स्थित बैंकों व सीएसपी केंद्रों पर राशि निकासी के लिए आए ग्राहक शारीरिक दूरी का अनुपालन नहीं कर रहे हैं। इससे बैंक कर्मी भी दहशत में है। बैंकों के सुरक्षा में तैनात एक दो गार्ड भी ग्राहकों के सामने कुछ नहीं कर पा रहे। जो बैंक कर्मी हैं वे भी बार-बार समझा रहे हैं लेकिन किसी ग्राहक के ऊपर कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा है। इसके चलते बैंकों व सीएसपी में लोगों की काफी अधिक भीड़ हो जा रही है। राशि निकासी करने आए लोग एक दूसरे में सट कर कतार में खड़ा हो रहे हैं। इसमें कई लोग न मास्क लगाए हैं और न ही गमछा या तौलिया का ही प्रयोग कर रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों से आई महिलाएं राशि निकासी जल्दी कर घर वापस जाने की जल्दबाजी में कोई सावधानी नहीं बरत रही। मंगलवार को भभुआ नगर के सभी बैंकों व सीएसपी में काफी भीड़ हुई। इसी तरह भगवानपुर प्रखंड मुख्यालय सहित ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित बैंकों में जम कर लोगों की भीड़ उमड़ी। चैनपुर, चांद सहित अन्य प्रखंडों में भी बैंकों व सीएसपी पर भीड़ से लॉकडाउन का उल्लंघन खुलेआम हुआ। लेकिन महिलाओं की संख्या अधिक होने के कारण बैंक कर्मी व सुरक्षा गार्ड पूरी तरह विवश दिखे। बार-बार समझाने व आग्रह करने के बाद भी स्थिति जस की तस रही। भीड़ को जल्दी हटाने के लिए बैंक कर्मी भी जल्दी-जल्दी पैसा निकासी कर लोगों को हटाना चाह रहे हैं। बता दें कि लॉकडाउन के बाद सरकार द्वारा लाभुकों के खाते में जन धन का पांच सौ रुपये व गैस सब्सिडी का 849 रुपये भेजा गया है। जिसके सहारे कई गरीब लोग अपने घर का खर्च चलाने के लिए राशि निकासी करने आ रहे हैं। इसमें सबसे बड़ी समस्या यह हो गई कि जो राशि आई है उसे नहीं निकालने पर वापस लौट जाने की अफवाह ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंच गई है। इसके चलते बिना देर किए सभी लोग अपनी राशि निकाल लेना चाह रहे हैं। इसके चलते बैंकों व सीएसपी में भीड़ हो रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस