कैमूर। जिले के प्रखंड अधौरा के बिदुरी व बरडीहा गांव के जंगलों में नर्सरी निर्माण का कार्य वन विभाग द्वारा कराया जा रहा है। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए देशव्यापी लॉकडाउन है जिसमें शारीरिक दूरी बना कर रहने की अपील लोगों से की जा रही है। लेकिन वन विभाग के अधिकारी व कर्मी निर्माण कार्य में इसका अनुपालन मजदूरों से नहीं करा पा रहे। बता दें कि उक्त स्थल पर वनविभाग की ओर से हाइटेक स्थाई नर्सरी का निर्माण जनवरी 2020 के प्रथम सप्ताह से कराया जा रहा है। इस कार्य में लगभग 70 की संख्या में विभिन्न गांवों के मजदूर लगाए गए हैं। इसी जगह वन विभाग की ओर से भवन निर्माण का भी कार्य कराया जा रहा है। जिसमें गोपालगंज जिले के मिस्त्री व मजदूर काम करते हैं। लेकिन कार्य के दौरान लॉकडाउन का उल्लंघन हो रहा है। आश्चर्यजनक यह है कि वन विभाग ऐसी परिस्थिति में भी दर्जनों लोगों को इकट्ठा कर काम करा रहा हैं। दबी जुबान से मजदूरों ने यह भी बताया कि निर्धारित कार्य अवधि के बाद भी उनसे काम लिया जाता है। मजदूरों से दिन भर की मजदूरी में रात को भी काम कराया जाता है और धमकाया जाता है कि अगर रात में कोई काम नहीं करेगा तो उसे तत्काल हटा दिया जाएगा। इसी भय से एक ही मजदूरी में मजदूर दिन रात काम करते हैं।

इस संबंध में रेंजर बिजयशंकर चौबे ने बताया कि वन विभाग के कार्य लॉकडाउन के अंतर्गत नहीं आते हैं। भारत सरकार की अनुमति प्राप्त है। कितने मजदूरों से कार्य कराने की अनुमति प्राप्त है इसका खुलासा नहीं किया और यह भी कहा कि वहां भवन निर्माण का कोई कार्य नहीं करवाया जा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस