चांद प्रखंड के अमांव गांव के डीलर पर राशन की कालाबाजारी करने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की गई है। लाभुकों ने डीलर पर जनवरी फरवरी एवं मार्च महीने का राशन नहीं देने का आरोप लगाया था। एक अप्रैल को जांच में गए प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी ने आरोप को सही पाया। प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी ने जांच रिपोर्ट अनुमंडल पदाधिकारी को सौंप कर आवश्यक कार्रवाई करने का अनुरोध किया था। आपूर्ति पदाधिकारी सरोज कुमार ने कहा कि कोरोना वायरस समाप्त करने के महायुद्ध में जरूरतमंदों को राशन पहुंचाना सरकार की प्राथमिकता है। ऐसे समय में डीलर के द्वारा राशन की कालाबाजारी करना सही नहीं है। अनुमंडल पदाधिकारी जन्मेजय शुक्ला के आदेश पर अमांव गांव के डीलर संतोष कुमार पांडेय को राशन कालाबाजारी करने का दोषी मानते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस