पेट्रोलियम पदार्थों व ऊर्जा की बचत को लेकर पेट्रोलियम मंत्रालय भारत सरकार के निर्देश पर इंडियन आयल कारपोरेशन जागरूकता अभियान चला रहा है। एक  से 15 फरवरी तक संरक्षण क्षमता महोत्सव पखवाड़ा में शनिवार को स्थानीय प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय दादर में चित्रांकन व पेंटिग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें  सातवीं से नौवीं कक्षा के डेढ़ सौ प्रतिभागियों ने भाग लिया। सर्वश्रेष्ठ 15 विजेताओं को प्रमाण पत्र के साथ पुरस्कृत किया गया। इसके अलावा सभी प्रतिभागियों को इंडियन आयल कारपोरेशन द्वारा निर्गत प्रमाण पत्र देकर प्रतिभागियों को प्रोत्साहित किया गया। विद्यालय के प्रधानाध्यापक सुभाष राम व मां दुर्गे इंडेन मोहनियां के प्रो. प्रदीप कुमार पटेल ने प्रतिभागियों को पुरस्कृत कर उनका हौसला बढ़ाया। इंडियन आयल कारपोरेशन पटना के असिस्टेंट मैनेजर सनत कुमार पात्रा ने बताया कि पेट्रोलियम पदार्थ और ऊर्जा के स्त्रोत सीमित हैं। समय रहते इस की बचत पर ध्यान नहीं दिया गया तो आगे चलकर इसकी भारी किल्लत होगी। इससे भारी कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है। इसी को ध्यान में रखकर पेट्रोलियम मंत्रालय भारत सरकार के निर्देश पर एक फरवरी से 15 फरवरी तक संरक्षण क्षमता महोत्सव पखवाड़ा मनाया गया। इसमें छात्र-छात्राओं व आम आवाम को पेट्रोलियम पदार्थों व ऊर्जा के संरक्षण के लिए जागरूक किया गया। विद्यालयों में प्रतियोगिताओं का आयोजन कर छात्र छात्राओं को ऊर्जा संरक्षण का संदेश दिया जा रहा है। छात्र छात्राओं को बताया जा रहा है कि पेट्रोलियम पदार्थों के साथ-साथ ऊर्जा व ईधन की बचत जरूरी है। बिजली की अनावश्यक खपत न की जाए। जरूरत न हो तो घर में लगे वल्बों, पंखों व अन्य उपकरणों को बंद रखा जाए। इसके लिए लोगों को  सोच में बदलाव लाना होगा। तभी यह अभियान सफल होगा। पेंटिग व चित्रांकन प्रतियोगिता में छात्राओं का जलवा रहा। इसमें सातवीं कक्षा की प्रीति कुमारी, ज्योति कुमारी व खुशबू कुमारी, नौवीं कक्षा की खुशी कुमारी व शालू कुमारी ने एक से पांचवां स्थान प्राप्त किया। इसके अलावा दस अन्य प्रतिभागियों को भी पुरस्कार दिया गया। विद्यालय के प्रधानाध्यापक सुभाष राम ने बताया कि पेट्रोलियम पदार्थों की बचत के लिए इंडियन आयल कारपोरेशन द्वारा चलाया जा रहा  जागरूकता अभियान सराहनीय है। प्रदीप कुमार पटेल ने बताया कि कैमूर जिला में एक विद्यालय में इस प्रतियोगिता का आयोजन करना था। इसके लिए उत्क्रमित मध्य विद्यालय दादर को चयनित किया गया था। प्रतियोगिता में डेढ़ सौ से अधिक छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। सभी प्रतिभागियों को इंडियन आयल कारपोरेशन द्वारा प्रतियोगिता से संबंधित सामग्री वितरित की गई थी। प्रतिभागियों में काफी उत्साह देखा गया। प्रतिभागी छात्र-छात्राओं ने कहा कि वे अपने घर व अगल बगल में भी पेट्रोलियम पदार्थों व ऊर्जा के संरक्षण का संदेश देंगे। इस मौके पर विद्यालय के शिक्षक संतोष कुमार तिवारी, विद्यासागर राम, नितीश प्रभाकर, बृजकिशोर तिवारी, शगुफ्ता यास्मीन, सुनीता कुमारी, सुमन, मंजू देवी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस