श्रम विभाग असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कामगार मजदूरों का आनलाइन निबंधन कर रहा है। श्रम विभाग से निबंधित मजदूरों को सरकार की संचालित कई योजनाओं का लाभ प्रदान किया जा रहा है। इसमें सबसे खास बात यह है कि श्रम विभाग से निबंधित मजदूरों को 60 वर्ष के बाद एक हजार रुपये प्रतिमाह पेंशन दिए जाने का प्रावधान किया गया है। साथ ही निबंधित मजदूरों के बच्चे अगर मैट्रिक परीक्षा में जिला स्तर पर टॉप थ्री में शामिल होते हैं तो उन्हें वित्तीय सहायता भी दी जाती है। बिहार भवन व अन्य निर्माण कामगार बोर्ड ने जिले में प्रखंडवार मजदूरों के निबंधन के लिए आनलाइन प्रक्रिया प्रारंभ की है। जिसे विभाग द्वारा युद्ध स्तर पर चलाया जा रहा है। इस संबंध में पूछे जाने पर श्रम अधीक्षक रोहित कुमार ने बताया कि पूर्व से निबंधित मजदूरों को निबंधन अवधिक समाप्त होने के बाद नवीनीकरण कराया जाना अनिवार्य है। निबंधन का नवीनीकरण नहीं होने पर बिहार भवन व अन्य निर्माण कर्मकार बोर्ड से संचालित योजनाओं के लाभ से वंचित होना पड़ सकता है। उन्होंने बताया कि बोर्ड के माध्यम से मजदूरों के बच्चों को शिक्षा के लिए भी वित्तीय सहायता औजार, साइकिल खरीदने सहित कई योजनाओं के लिए प्रोत्साहन राशि बोर्ड द्वारा उपलब्ध कराई जाती है। उन्होंने कहा कि इन दिनों जिले में श्रमिकों के निबंधन के लिए युद्ध स्तर पर अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें जिले में 30 हजार 611 अब तक कामगार मजदूरों का निबंधन हो चुका है।

अब तक निबंधित हुए मजदूरों की प्रखंडवार स्थिति -

प्रखंड - श्रमिकों की संख्या

मोहनियां - 3040

अधौरा - 907

भभुआ - 5285

दुर्गावती- 5508

चैनपुर - 2752

चांद- 1449

भगवानपुर - 2208

नुआंव - 861

रामगढ़ - 1252

कुदरा - 1641

रामपुर - 1540

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप