कैमूर। कोरोना के चलते लगाए गए लाकडाउन की अवधि समाप्त होने के बाद सरकार द्वारा अनलाक कर दिया गया। अनलाक होने के बाद सभी तरह की दुकानें निर्धारित दिन व समय के अनुसार खुलने लगी। बाजार में लोगों का आना जाना भी शुरू हो गया।

उधर अनलाक होने के बाद बाजार में अतिक्रमण की समस्या भी उत्पन्न होने लगी। ठेला पर दुकान लगाने वाले दुकानदार सड़क पर अतिक्रमण कर व्यवसाय कर रहे हैं। सड़क पर जहां-तहां वाहन लगाए जा रहे हैं। इससे पैदल चलने तक भी जगह नहीं बच रही। जिसके चलते कोरोना के गाइडलाइन का भी अनुपालन नहीं हो पा रहा है। बाजार में अतिक्रमण व जहां-तहां खड़े वाहनों के चलते भीड़ की स्थिति लगभग हर जगह उत्पन्न हो जा रही है। इस दौरान शारीरिक दूरी का अनुपालन नहीं हो पा रहा है। इस समस्या पर प्रशासन की भी नजर नहीं पड़ रही है। जबकि सड़क को खाली रखने के लिए ट्रैफिक पुलिस की भी प्रतिनियुक्ति जिले में हो चुकी है। सुबह से लेकर देर शाम तक ट्रैफिक पुलिस वाहन से सायरन बजाते हुए लोगों को सतर्क करते रहती है। लेकिन इसका असर किसी भी व्यक्ति पर नहीं पड़ता है।

वहीं दुकानदारों के लिए ट्रैफिक पुलिस की चेतावनी कोई मायने नहीं रखती। अतिक्रमण व जहां-तहां खड़े वाहनों के चलते ग्रामीण क्षेत्रों से बाइक लेकर आए लोगों को अपनी बाइक लगाने के लिए भी जगह नहीं मिल पा रही। दुकानों पर ग्राहकों को आने जाने में भी परेशानी होती है। इस समस्या से दुकानदार काफी नाराज है। दुकानदारों का कहना है कि प्रशासन को इस समस्या पर ध्यान देना चाहिए। यदि अतिक्रमण की समस्या दूर हो गई तो गाइडलाइन का अनुपालन स्वत: ही हो जाएगा।

Edited By: Jagran