कैमूर : थाना क्षेत्र के खनांव गांव में मंगलवार की देर शाम बच्चों के विवाद में हुई मारपीट में आधा दर्जन लोग घायल हो गए। घायलों में गंभीर पारस यादव की पत्नी सोना देवी व पुत्र अंगद यादव का इलाज सदर अस्पताल में कराया गया। दोनों पक्षों ने एक दूसरे के विरूद्ध थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। थाना में दिए गए आवेदन में प्रथम पक्ष पारस यादव की पत्नी सोना देवी ने लिखा है कि 30 जून की देर शाम उनकी गोतनी संवरू यादव की पत्नी आशा देवी ने अपने पुत्र का मल हमारे घर के खपरैल पर फेंक दिया। इसकी शिकायत करने पर आशा देवी अपने घर की छत से उतरकर गाली देने लगी। गाली देने से मना करने पर आशा देवी व उनकी पुत्री चांदनी देवी तथा पुत्र रामानंद ने लाठी से उसे पटक कर मारना शुरू कर दिया। संवरू यादव ने आने पर गाली देते हुए मारने के लिए ललकारा। हल्ला सुनकर मेरी पतोहु रेखा देवी ने आकर छुड़ाने का प्रयास किया। मेरे पुत्र अंगद भी मुझे बचाने में घायल हो गया। आसपास के लोगों के आने पर उक्त लोग भागने लगे। इस दौरान चांदनी देवी ने मेरी पतोहु के गले से मंगल सूत्र व संवरू यादव ने सोना देवी के गले से सोने का हार छीन लिया। वहीं दूसरी तरफ संवरू यादव ने प्राथमिकी को दिए आवेदन में लिखा है कि मंगलवार की शाम मेरे पुत्र विवेक यादव ने दाना खाने के बाद उसकी पन्नी पड़ोसी पारस यादव की घर की तरफ फेंक दिया। इस बात को लेकर पारस यादव के पुत्र जागेंद्र व अंगद सिंह मेरे बेटा को मारने लगे। जब उनकी पत्नी आशा देवी बचाने गई तो उसे भी लाठी से मारकर जख्मी कर दिया गया। पत्नी को बचाने के लिए जब सवंरू यादव व उनकी पुत्री चांदनी देवी बचाने गए तो उन्हें भी मारपीट कर घायल कर दिया गया। पूछे जाने पर थानाध्यक्ष रामानंद मंडल ने बतायाकि दोनों पक्ष के आवेदन के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस