कैमूर : जिले की जीविका दीदियों के द्वारा गड्ढ़ा खोदो अभियान चल रहा है। यह अभियान करीब 15 जुलाई तक चलेगा। गड्ढ़ा खोदने तथा पौधा लगाने का थीम यह है कि जीविका दीदियों तक पोषण के लिए फलदार पौधा के माध्यम से न्यूट्रिसियन मिलेगा। साथ ही उनके घर आंगन को छांव के साथ हरियाली भी नसीब होगा। हरित जीविका, हरित बिहार, हरित कैमूर को ध्यान में रखते हुए जीविका की ओर से करीब डेढ़ लाख गड्ढ़ा खोदने का लक्ष्य रखा गया है। जिसमें फलदार पौधे लगाए जाएंगे। फलदार पौधों के लिए जीविका ने वन विभाग से डिमांड भी किया है। इसके लिए वन विभाग अपने नर्सरी तथा अन्य बाहर जगहों से भी लाकर जीविका को फलदार पौधा उपलब्ध करा रहा है। जीविका दीदियां आम, अमरूद, आवंला, कटहल, सहजन, नींबू आदि जैसे फलदार पौधे लगाएंगी। उनके द्वारा लगाए गए पौधों पर उनका मालिकाना हक होगा। वर्तमान समय में जीविका की ओर से लगभग 50 हजार से अधिक गड्ढ़ा खोदा गया है। फलदार पौधा के तैयार होने के बाद जीविका दीदियों को काफी हद तक अच्छा रहेगा। जीविका की मांग पर वन विभाग पौधा की आपूर्ति अपने नर्सरी से कर रहा है। इसके अलावा कुछ पौधा बाहर से मंगा कर जीविका को दे रहा है। इस संबंध में जिला परियोजना प्रबंधक जीविका विशाल कुमार ने बताया कि वन विभाग से पौधा मांगा गया है। हरित जीविका, हरित बिहार के तहत पौधा लगाया जा रहा है। अधिसंख्य फलदार पौधा लगाया जा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस