जिले में लॉकडाउन के दौरान विभिन्न प्रदेशों से आने वाले श्रमिकों को मनरेगा योजना के तहत रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। जिले में मनरेगा योजना के तहत प्रतिदिन 40 हजार लोगों को काम देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उप विकास आयुक्त केपी गुप्ता ने सभी प्रखंडों में निर्धारित लक्ष्य के अनुसार 40 हजार श्रमिकों को काम उपलब्ध कराने के लिए प्रखंड स्तरीय कार्यक्रम पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। जिला कार्यक्रम पदाधिकारी मनरेगा संदीप कुमार मौर्य ने बताया कि कैमूर जिले में मनरेगा योजना के तहत जल जीवन हरियाली की योजनाओं से विभिन्न कार्य को कराया जाएगा। प्रत्येक कार्य दिवस में 40 हजार श्रमिकों को काम दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि योजनाओं के होने वाले कार्य को हर हाल में 15 जून तक पूरा किया जाना है। इसके संबंध में डीडीसी ने प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया है। जिला कर्यक्रम पदाधिकारी ने बताया कि जल सरंक्षण से संबंधित 631 योजनाओं व पौधारोपण की 707 योजनाओं पर 15 मई से काम शुरू होगा। उन्होंने कहा कि खेत पोखर व आवास की 1002 योजनाओं पर 22 मई से काम शुरू होगा। उन्होंने कहा कि मनरेगा योजना के 6480 योजनाओं पर कार्य शुरू करा कर प्रत्येक दिन जिले के 40 हजार श्रमिकों को काम उपलब्ध कराने की योजना है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021