जिले में ओवरलोडिग व अवैध खनन को रोकने के लिए जिला प्रशासन गंभीर है। लगातार जिले के विभिन्न मार्गों में ओवरलोडिग रोकने के लिए परिवहन विभाग द्वारा जांच अभियान चलाया जा रहा है। वहीं अवैध खनन को लेकर भी जिला प्रशासन हर बिदुओं से लगातार जांच अभियान चला रहा है। इसी क्रम में गलत चालान के माध्यम से ओवरलोड वाहनों को पार कराने की बात सामने आने पर डीएम डॉ. नवल किशोर चौधरी ने जिला खनन पदाधिकारी से शो कॉज किया है। उन्होंने कहा कि जिले में ओवरलोडिग व अवैध खनन पर हर हाल में रोक लगनी चाहिए। शनिवार को डीएम अपने कार्यालय कक्ष में पदाधिकारियों के साथ बैठक किए। बैठक में जिलाधिकारी ने ओवरलोडिग के साथ-साथ एनएच दो पर व्यवसायिक संस्थानों जिसमें होटल, ढाबा सहित अन्य कार्य करने वाले संचालकों के विरुद्ध भूमि संपत्ति परिवर्तन अधिनियम के तहत दी गई नोटिस की भी समीक्षा की। जिसमें एनएचआइ के प्रतिनिधियों द्वारा बताया गया कि अब तक 70 लोगों को नोटिस दी जा चुकी है। जिसमें से मात्र सात लोगों द्वारा ही नोटिस का जवाब दिया गया है। डीएम ने इस दिशा में आवश्यक कार्रवाई करने के लिए एनएचआइ के प्रतिनिधि को नोटिस का जवाब नहीं देने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने की बात कही। बता दें कि जिले में ओवरलोडिग रोकने के लिए परिवहन विभाग द्वारा लगातार अभियान चलाया जा रहा है। साथ ही खनन विभाग भी अपने स्तर से ओवरलोडिग वाहनों पर कार्रवाई कर रहा है। इसके बावजूद भी ओवरलोडिग पर अंकुश नहीं लग रहा है। इसके चलते एनएच दो पर जाम की समस्या कम नहीं हो रही है। कभी-कभी एनएच दो पर प्रशासनिक कार्रवाई तेज होने पर चालक ट्रक लेकर लिक मार्गों से होकर निकल जा रहे है। इससे समय से पूर्व ही ग्रामीण सड़कें खराब हो रही हैं। इन सब मामलों को गंभीरता से लेते हुए डीएम ने डीटीओ को सभी मार्गों में नियमित जांच अभियान चला कर ओवरलोड वाहनों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करते हुए जुर्माना वसूलने का निर्देश दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस