सातवें वेतनमान की मांग को ले बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम के अधीन कार्यरत होटल कर्मी आज से अनिश्चितकालीन हड़ताल करेंगे। गुरुवार को कैमूर बिहार होटल मोहनियां के कर्मियों ने काला बिल्ला लगाकर काम किया। होटल कर्मियों ने बताया कि सरकारी होटल कर्मी विगत चार वर्षों से सरकार से सातवें वेतनमान की मांग कर रहे हैं। सातवां वेतनमान नहीं मिलने के कारण होटल कर्मियों को काफी आर्थिक क्षति हो रही है। इसको लेकर समय-समय पर होटल कर्मी हड़ताल भी करते रहे हैं। हड़ताल के समय सरकार मांग पर गंभीरता से विचार करने का आश्वासन देती है। जिसके झांसे में आकर होटल कर्मी हड़ताल समाप्त कर देते हैं। मांग पूरी नहीं होने के कारण होटल कर्मी अपने को ठगा महसूस कर रहे हैं। बिहार पर्यटन विकास निगम के अधीन कार्य करने वाले कर्मी सातवें वेतनमान को ले इस बार सरकार से आर-पार की लड़ाई लड़ने के मूड में हैं। गुरुवार को बिहार के सभी होटल कर्मी काला बिल्ला लगाकर कार्य किए। शुक्रवार से होटल कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे। जिससे सरकारी होटलों में ताला लटक जाएगा। इसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी। हड़ताल से बिहार पर्यटन विभाग को काफी क्षति होगी। इसके बावजूद सरकार होटल कर्मियों की मांग पर विचार करना नहीं चाहती। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। होटल कर्मी ईमानदारी व निष्ठा के साथ अपनी सेवा देते हैं। लेकिन सरकार इस पर कभी विचार नहीं करती। जिससे बाध्य होकर होटल कर्मियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है। हड़ताल के दौरान कर्मी होटल में तालाबंदी कर मुख्यद्वार पर धरना पर बैठेंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप