दुर्गावती : एक तरफ कैमूर जिला को शिक्षा के क्षेत्र में काफी अव्वल माना जाता है। लेकिन कैमूर जिले में ही स्थित दुर्गावती प्रखंड क्षेत्र में आजादी के बाद आज तक डिग्री कालेज नहीं खुला। डिग्री कालेज के बिना उच्च शिक्षा ग्रहण कर पाना यहां के छात्र- छात्राओं के लिए काफी कठिन काम है। लंबी दूरी तय करने के बाद यहां के छात्र छात्रा स्नातक की डिग्री हासिल करते हैं। छात्र तो लंबी दूरी तय कर किसी भी डिग्री कालेज में अपना नामांकन करा लेते हैं लेकिन छात्राओं के लिए यह काम काफी कठिन होता है। इसके लिए छात्राओं को कई तरह की परेशानी का सामना करना पड़ता है। दुर्गावती प्रखंड के आसपास लगभग 20 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद ही कोई डिग्री कालेज मिलता है। जिसमें प्रखंड के उत्तर तरफ यूपी के जमानिया, पूरब तरफ रामगढ़ प्रखंड एवं मोहनिया प्रखंड में डिग्री कालेज में नामांकन कराने जाना पड़ता है। जिसकी दूरी लगभग 20 किलोमीटर है। वहीं दक्षिण तरफ जिला मुख्यालय भभुआ और पश्चिम तरफ यूपी के चंदौली जिला में डिग्री कालेज में नामांकन कराने जाना पड़ता है। जिसकी दूरी लगभग 35 किलोमीटर है ।

नामांकन तक तो ठीक है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि छात्र रोज इतनी लंबी दूरी तय कर शिक्षा हासिल कैसे करेंगे। जरूरी नहीं है कि सभी छात्र और छात्राएं आर्थिक रूप से संपन्न हैं, जो लोग संपन्न हैं वह तो अपना आवास लेकर यह हास्टल में पढ़ाई कर सकते हैं। लेकिन आर्थिक रूप से पिछड़े हुए छात्र-छात्राओं के लिए यह एक बहुत ही बड़ी समस्या है और आने जाने में कई तरह की परेशानी होती है।

Edited By: Jagran