लॉकडाउन के दौरान देश के विभिन्न प्रदेशों से आए प्रवासी मजदूरों को जिले में रोजगार देने में जिला प्रशासन जुट गया है। गुरुवार को डीएम डॉ. नवल किशोर चौधरी की अध्यक्षता में प्रवासी मजदूरों को जिले में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए तकनीकी पदाधिकारियों के साथ कार्य योजना तैयार करने को लेकर बैठक हुई। बैठक में डीएम ने प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने के लिए दो दिनों में कार्य योजना तैयार करने का निर्देश दिया। मिली जानकारी के अनुसार डीएम ने बैठक में उपस्थित तकनीकी विभागों के पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे अपने-अपने विभाग में किस कार्य के लिए कितने व्यक्तियों की आवश्यकता है। उसी के आधार पर कार्ययोजना तैयार करें। इसके अलावा मनरेगा योजना के तहत अधिक से अधिक प्रवासियों को जाब कार्ड जारी करने और रोजगार उपलब्ध कराने के संबंध में संबंधित पीओ को भी आवश्यक दिशा निर्देश दिया। बैठक में उपस्थित जिला महाप्रबंधक उद्योग विभाग को जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि वे एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाएं। उसमें सभी विभागों के तकनीकी अभियंताओं को जोड़कर उनकी आवश्यकता के अनुसार प्रवासी मजदूरों को रोजगार दिलाना सुनिश्चित करें। बैठक में उप विकास आयुक्त कृष्ण कुमार गुप्ता, अपर समाहर्ता सुमन कुमार, जीएम नागेंद्र शर्मा सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस