नगर में स्वच्छता सर्वे का कार्य अभी कुछ दिन पहले ही संपन्न हुआ है। इसमें भले ही दूसरे नंबर पर भभुआ नगर परिषद रहा हो लेकिन काफी संख्या में लोगों ने अपना फीडबैक दिया। इस दौरान नगर में सफाई व्यवस्था पर भी नगर परिषद का काफी ध्यान रहा। लेकिन स्वच्छता सर्वे खत्म होने के बाद नगर परिषद सफाई व्यवस्था पर ध्यान देना छोड़ दिया। सिर्फ सुबह में एक बार नगर की सड़कों के किनारे का कूड़ा उठाने के बाद पूरे दिन भर कोई परवाह नहीं। लोग सड़क के किनारे कूड़ा न फेंके इसके लिए डस्टबीन भी नहीं रखा जा रहा। इसके चलते खास कर दुकानदार अपनी दुकानों के सामने ही कूड़ा फेंक रहे हैं। इसमें सबसे बड़ी बात यह है कि दुकानदार अपनी दुकानों के सामने सड़क पर जो कूड़ा फेंक रहे हैं उसमें पॉलीथिन भी रह रहा है। कूड़ा पर आने वाले मवेशी पॉलीथिन को भी खा रहे हैं। इससे उनकी जान को खतरा है। वहीं नगर में आने वाले लोग भी सड़क किनारे फेंके गए कूड़ा के चलते परेशान रहते हैं। कूड़ा के चलते लोग खड़ा होने में भी हिचकिचाते हैं। मवेशियों द्वारा कूड़ा को इधर उधर बिखरा दिया जाता है। इससे आने-जाने वाले लोगों को काफी परेशानी होती है। लोगों का कहना है कि जब सड़कों पर गंदगी इस तरह है तो वार्डों का हाल क्या होगा इससे साफ पता चलता है। नगर के लोगों ने कहा कि सड़क पर नगर परिषद को जगह-जगह डस्टबीन रखना चाहिए। खास कर नगर के वैसे स्थान जहां लोगों की अधिक भीड़ रहती है उन स्थानों पर नगर परिषद को काफी ध्यान देना चाहिए। इसमें एकता चौक, सब्जी मंडी के सामने आदि स्थान है। लेकिन इन स्थानों पर डस्टबीन नहीं रखा गया है। इसके चलते दुकानदार सड़क के किनारे ही कूड़ा फेंक रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस