प्रखंड में ग्राम पंचायत के अधीन 97 वार्ड में चलाई जा रही नल जल योजना में लापरवाही बरतने वाले वार्ड सदस्य पर कार्रवाई की जाएगी। योजना की जांच के लिए बीडीओ ने कनीय अभियंताओं की पैनल बनाई है। बीडीओ ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि वार्ड सदस्यों ने मापी पुस्तिका जमा नहीं किया तो कार्रवाई की जाएगी। प्रखंड के 12 पंचायत में से सात पंचायत में वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति एवं शेष पंचायत में पीएचइडी विभाग के द्वारा नल जल योजना का कार्य कराया जा रहा है। सात पंचायत के 97 वार्ड में सात निश्चय की राशि वार्ड समिति के खाते में ट्रांसफर कर दी गई है। लेकिन ग्रामीणों के द्वारा आरोप लगाया जा रहा है कि राशि प्राप्त कर लेने के बाद भी वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति नल जल योजना पर कार्य नहीं कर रही है। लगातार शिकायत मिलने एवं लापरवाह समिति पर बीडीओ ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। बीडीओ ने पंचायत विभाग के नव नियुक्त कनीय अभियंता विजेंद्र गुप्ता, अमित कुमार एवं राजेश प्रजापति को नल जल योजना की जांच करने के लिए आदेश जारी कर दिया है। जानकारी देते हुए बीडीओ रवि रंजन ने कहा कि ग्रामीणों को शुद्ध जल देने की महत्वाकांक्षी योजना पर सरकार का विशेष फोकस है। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों को शुद्ध जलापूर्ति करना प्राथमिकता में है। किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बीडीओ रवि रंजन ने कहा कि वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति के खाते में राशि भेजे जाने के बाद भी योजना की प्रगति संतोषजनक नहीं है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस