मंगलवार को डीएम डॉ. नवल किशोर चौधरी ने प्रखंड कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने सभी विभागों के कार्यों की समीक्षा की। नल जल योजना के कार्य की धीमी गति पर नाराजगी जताई। 15 दिन के अंदर अधूरे कार्यों को पूरा कराने के लिए बीडीओ मनोज कुमार को निर्देश दिया। पहले बीडीओ के नेतृत्व में गठित टीम सभी पंचायतों में नल जल योजना के कार्यों की मॉनीटरिग करेगी। 15 दिन बाद जिला स्तर पर गठित टीम योजना के कार्यों की जांच करेगी। इसके बाद योजना में शिथिलता बरतने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। मंगलवार को अचानक मोहनियां के प्रखंड कार्यालय में डीएम के पहुंचते ही हड़कंप मच गया। बीडीओ के कार्यालय कक्ष में बैठकर उन्होंने प्रखंड, अंचल, लोक शिकायत, शिक्षा, स्वास्थ्य इत्यादि विभागों के कार्यों की समीक्षा की। पदाधिकारियों व कर्मियों से जानकारी ली। मोहनियां प्रखंड में मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के हर घर नल जल व गली नाली निर्माण कार्य की धीमी गति पर उन्होंने कड़ी नाराजगी जताई। इसे पूरा करने के लिए 15 दिन की समय सीमा तय किया। इसके बाद दोषियों पर कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी।कहा की शिकायती मामलों का त्वरित गति से निष्पादन होना चाहिए। निर्धारित समय सीमा पार होने के बाद भी मामले का निष्पादन नहीं होता है तो यह गंभीर बात है। सभी पदाधिकारी व कर्मियों को जवाबदेही के साथ कार्य करना होगा। पंचायत स्तर पर आरटीपीएस काउंटर खोला जाए। जहां से ग्रामीणों को सरकारी योजनाओं का लाभ मिल सके।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस