लगातार प्रशासन की ओर से सब्जी मंडी रोड को खाली कराने के लिए अल्टीमेटम दिया जा रहा था। लेकिन दुकानदार नहीं मान रहे थे। बार बार सब्जी विक्रेता द़ुकान लगा रहे थे। प्रशासन की ओर से मंगलवार को डेडलाइन तय की गई थी। इसी क्रम में सोमवार को ही सब्जी मंडी रोड को खाली करके दुकानदार सब्जी मंडी में शिफ्ट हो गए। सोमवार को नगर परिषद की टीम ने भी रोड से मंडी में दुकानों को शिफ्ट करवाया। इस संबंध में एसडीएम जन्मेजय शुक्ला ने बताया कि नगर परिषद को कहा गया था कि अगर मंगलवार तक दुकानों को दुकानदार नहीं हटाते है तो उनकी दुकानों को जब्त करते हुए उन पर कार्रवाई करें। इस सख्ती को देखते हुए दुकानदार वापस सब्जी मंडी में लौट गए। एसडीएम ने बताया कि नगर परिषद की ओर से कुछ दुकानदारों के दुकान का आवंटन भी रद्द कर दिया गया है। इसके अलावा कुछ दुकानदार पिछले काफी समय से किराया नहीं दे रहे थे। इसको लेकर नोटिस किया गया है। अगर सब्जी मंडी की बजाए रोड पर ठेला या सब्जी आदि की दुकान लगी मिली तो उसकी दुकान को जब्त करते हुए उससे जुर्माना लेने के बाद कार्रवाई कि जाएगी। वहीं सब्जी मंडी रोड में दुकान न लगे इसके लिए मजिस्ट्रेट व पुलिस बल की भी तैनाती कराई जा रही है।

छात्राओं को होगी सहूलियत-

इंटर स्तरीय एसएसएस गर्ल हाईस्कूल में पढ़ने वाली करीब 1800 छात्राएं, कन्या मध्य विद्यालय वार्ड 18 के साथ साथ कई विद्यालय के छात्राओं को आने जाने में सहूलियत होगी। क्योंकि सब्जी मंडी रोड से दुकानें हटाई जा चुकी है। पूर्व में जब दुकानें लगती थी तो छात्राओं के आने जाने के समय कॉमेंट, उन पर कुछ फेंक देना आदि छेड़खानी होती थी साथ ही रास्ता भी काफी जाम रहता था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस