कैमूर। भभुआ नगर परिषद व मोहनियां नगर पंचायत में बुधवार से सफाई कार्य शुरू हो गया। जिससे लोगों को गंदगी की समस्या से निजात मिल गई है। ज्ञात हो की मांगों को लेकर सात सितंबर को सफाई कर्मियों के अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले जाने से सफाई व्यवस्था ठप हो गई थी। भभुआ व मोहनियां नगर में जगह जगह कूड़े कचरे का ढेर लग गया था। भभुआ के मुख्य सड़क से लेकर वार्ड की गलियों में गंदगी पसरी दिख रही थी। भले ही सफाई का कार्य एनजीओ के माध्यम से हो रहा था, लेकिन सही तरीके से सफाई नहीं हो पा रही थी। उधर, मोहनियां नगर की हृदयस्थली चांदनी चौक पर जीटी रोड के दोनों सर्विस लेन के समीप लगे हुए कचरे के ढेर से निकलने वाली दुर्गंध से राहगीर परेशान थे। सभी वार्डों में कूड़े कचरे का अंबार लगा था। जिससे शहर में महामारी फैलने की आशंका बढ़ गई थी। बरसात में गंदगी के कारण पनपने वाले खतरनाक मच्छरों से कई खतरनाक रोगों का भय लोगों को सताने लगा था।

उच्च न्यायालय के आदेश के बाद बुधवार से नगर पंचायत में कार्यरत सफाई कर्मी काम पर वापस लौट आए। सुबह से ही सफाई का कार्य प्रारंभ हो गया। जगह-जगह लगे कूड़े के ढेर का जेसीबी या ट्रैक्टर के माध्यम से उठाव किया गया। सड़कों पर फैली गंदगी की सफाई की गई। जिससे नगर वासियों ने राहत की सांस ली। मंगलवार से रिमझिम बारिश शुरू हुई जो बुधवार को भी पूरे दिन जारी रही। ऐसे में अगर कचरे की सफाई नहीं हुई होती तो गंदगी की समस्या और गंभीर हो सकती थी।

इस संबंध में मोहनियां के बीडीओ सह नपं प्रभारी कार्यपालक पदाधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि मंगलवार को उच्च न्यायालय के आदेश के बाद बुधवार को सफाई कर्मी काम पर वापस लौट आए। इसके बाद सफाई कार्य आरंभ हो गया। अगले महीने कई महत्वपूर्ण त्योहार हैं। इसे ध्यान में रखकर सफाई व्यवस्था को सुदृढ किया जा रहा है। नगर पंचायत में सफाई कार्य से संबंधित जितने भी उपकरण खराब थे उन्हें ठीक कराया जा रहा है। जिससे सफाई कार्य में व्यवधान न सके। सभी सफाई कर्मियों को पूर्व की तरह सफाई कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है।

Edited By: Jagran