समाहरणालय के सभाकक्ष में सोमवार को पोषण अभियान के तहत पदाधिकारियों की बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता डीएम डॉ. नवल किशोर चौधरी ने की। इसमें सीएपी (कंवर्जेंस एक्शन प्लान) पर चर्चा हुई। डीएम ने कहा कि सभी विभाग मिल कर कुपोषण से लड़ने का प्रयास करें। सभी विभाग अपने स्तर से जन जागरूकता लाएं। सभी विभाग अपने-अपने स्तर से कार्यक्रम कराएं। सभी केंद्रों को धुआं मुक्त करने के लिए गैस चूल्हा का वितरण होना है। इस क्रम में डीएम ने अपने हाथों से आंगनबाड़ी सेविकाओं के बीच गैस चूल्हा का भी वितरण किया। उन्होंने बताया कि 30 सितंबर तक जो पोषण माह चल रहा है उसमें सभी लोग भागीदारी निभाएं। ताकि जिले को कुपोषण मुक्त बनाया जा सके। इस मौके पर उपस्थित पदाधिकारियों को शपथ दिलाई गई। जिसमें कहा गया कि आज मैं भारत के बच्चों, किशोरों और महिलाओं को कुपोषण मुक्त स्वस्थ और मजबूत करने का वचन देता हूं। राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान मैं हर घर तक सही पोषण का संदेश पहुंचाऊंगा। सही पोषण का अर्थ पौष्टिक आहार, साफ पानी और सहीं प्रथाएं। मैं पोषण अभियान को एक देश व्यापी जन आंदोलन बनाऊंगा, हर घर हर विद्यालय हर गांव हर शहर में सही पोषण की गूंज उठेगी। इस जन आंदोलन से मेरे भारतीय भाई और बहन और सब बच्चे स्वस्थ होंगे और पूरी क्षमता प्राप्त करेंगे। यह मेरी प्रतिज्ञा है। इस मौके पर स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि, अल्पसंख्यक, कल्याण, आइसीडीएस, पीएचइडी सहित अन्य विभागों के जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप