जीटी रोड पर आए दिन भीषण जाम लग रहा है। जिससे यात्री हलकान होते हैं। शुक्रवार को मुठानी से मोहनियां के बीच में जीटी रोड पर आधा दर्जन ट्रकों के खराब होने से सात घंटे तक जाम लगा रहा। पहले मुठानी गांव के समीप जीटी रोड के दक्षिणी लेन में एक ओवरलोड ट्रक खराब हो गया। ओवर टेक कर बगल से निकलने के प्रयास में उत्तरी लेन में भी एक ट्रक खराब होकर फंस गया। इसी तरह जीटी रोड पर जहां तहां आधा दर्जन ट्रक खराब हो गए। बेमौसम की बारिश ने इस समस्या को और बढ़ा दिया। इस दौरान कुदरा से समेकित चेक पोस्ट तक वाहनों की लंबी कतार लगी थी। ठंड में यात्री व चालक परेशान रहे। जीटी रोड पर भीषण जाम लगने के बाद पुलिस व प्रशासनिक पदाधिकारी सख्त हुए। मोहनियां पुलिस ने एनएचआई के पदाधिकारियों व कर्मियों के सहयोग से काफी मशक्कत के बाद दक्षिणी लेन का जाम हटवाया। इसके बाद शाम चार बजे के बाद जीटी रोड के दक्षिणी लेन से वाहनों का परिचालन शुरू हुआ। समाचार लिखे जाने तक उत्तरी लेन पूरी तरह जाम था।

बता दें कि गत 27 जनवरी को भी पुसौली के समीप जीटी रोड के उत्तरी लेन में एक ट्रक के खराब होने से भीषण जाम लगा था। जो 24 घंटे बाद हटा था। इससे पूर्व 23 जनवरी को भी पुसौली के समीप एक ट्रक खराब होने से सात घंटे जीटी रोड जाम हुआ था। राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाम लगने से ट्रकों के अलावा एंबुलेंस, बसें, व अन्य वाहन फंसे थे। एक लेन में वाहनों की दो दो कतार लगने से छोटे व दो पहिया वाहनों का भी निकलना मुश्किल था। प्रशासन के प्रयास से हटा जाम

शुक्रवार को दो बजे के बाद चेकपोस्ट तक जाम पहुंचने के बाद मोहनियां के थानाध्यक्ष राजकुमार ¨सह ने पुलिस पदाधिकारियों को दल बल के साथ जीटी रोड पर भेजा। तब तक एनएचआइ की टीम भी जाम स्थल से खराब ट्रकों को हटाने में जुट गई। धीरे-धीरे खराब ट्रक के बगल से जाम में फंसे वाहनों को निकालने का प्रयास किया गया। लेकिन आगे निकलने के चक्कर में बार बार जाम लग जा रहा था। सात घंटे बाद धीरे धीरे दक्षिणी लेन से वाहनों का परिचालन प्रारंभ हुआ। ज्ञात हो की 27 जनवरी से 28 जनवरी तक जीटी रोड पर 24 घंटे जाम लगने से मोहनियां के एसडीएम शिवकुमार राउत सख्त हुए थे। उन्होंने एनएचआइ के पदाधिकारियों व कर्मियों को कड़ी फटकार लगाई। जीटी रोड पर स्थित मोहनियां, कुदरा व दुर्गावती थानाध्यक्षों को तत्काल जीटी रोड पर उतरने का निर्देश दिया। उन्होंने एनएचआई के पदाधिकारियों व थानाध्यक्षों को कहा कि जब तक जीटी रोड का जाम नहीं हट जाता है तब तक वे मुस्तैद रहे। जहां से जाम की शुरुआत हुई है वहां खड़ा होकर बारी बारी से जाम में फंसे वाहनों को निकलवाए। इस दौरान अगर कोई चालक आगे के वाहन को ओवरटेक कर निकलने का प्रयास करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें। जाम हटाने में एनएचआइ के पदाधिकारियों व पुलिस पदाधिकारियों के पसीने छूट गए थे। काफी मशक्कत के बाद 28 जनवरी को 24 घंटे बाद जीटी रोड को जाम से मुक्त कराया गया। शुक्रवार को लगे जाम पर एसडीएम ने बताया कि एनएचआई के पदाधिकारियों व तीनों थानाध्यक्षों को निर्देश दिया गया है कि वे जाम को लेकर गंभीर रहे। जैसे ही कोई वाहन जीटी रोड पर खराब होता है उसे तत्काल हटवाने का प्रयास करें। जिससे जाम की स्थिति उत्पन्न न हो। यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस