जिले की 5666 छात्राओं को इस वित्तीय वर्ष में मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना का लाभ दिया जाएगा। इसके लिए सभी छात्राओं को अविवाहित होने का प्रमाण पत्र देना होगा मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के अंतर्गत सभी कोटी की छात्राओं को इस योजना का लाभ दिया जाएगा। शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार वित्तीय वर्ष 2019-20 जुलाई को 5666 छात्राओं को इस योजना से लाभान्वित किया जाएगा। इस मामले में माध्यमिक शिक्षा निदेशक गिरधर दयाल सिंह ने जिला शिक्षा पदाधिकारी व डीपीओ लेखा योजना को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया है। बता दें कि मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के अंतर्गत मुख्यमंत्री बालिका इंटरमीडिएट प्रोत्साहन योजना के तहत छात्राओं को 10000 रुपया डीबीटी के माध्यम से उनके खाते में भेजा जाएगा। जारी निर्देश में कहा गया है कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा ऐसी छात्राओं की सूची जो पंजीयन के समय अविवाहित एवं इंटरमीडिएट परीक्षा 2019 किसी भी श्रेणी में पास की हैं उन्हें योजना का लाभ दिया जाएगा। इसके लिए राज्य स्तर से छात्राओं की सूची सॉफ्ट कॉपी उपलब्ध कराई गई है। सभी प्रक्रियाओं को पूरा करते हुए 25 जुलाई तक मांगी गई सूचना उपलब्ध कराने का निर्देश सभी प्रधानाध्यापकों को दे दिया गया है। इस योजना का लाभ लेने के लिए 2019 में इंटरमीडिएट की परीक्षा पास करने के बाद छात्राओं को अपने अविवाहित होने के संबंध में घोषित प्रमाण पत्र संबंधित विद्यालय कॉलेज के माध्यम से उपलब्ध कराना होगा। छात्राओं को बैंक खाता संख्,या बैंक का नाम आईएफएससी कोड भी देना होगा। जिन छात्राओं का मोबाइल संख्या एवं आधार संख्या सूची में अंकित नहीं है तो उसकी भी जानकारी देनी होगी। इसके लिए जिला लेखा योजना कार्यालय में प्रधानाध्यापकों को सीडी या पेन ड्राइव के साथ संपर्क करने का भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप