सांख्यिकी विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक सितंबर माह में 253.00 एमएम बारिश होनी चाहिए थी। मंगलवार को हुई बारिश के बाद जिले में 86.31 एमएम बारिश हुई है। 17 सितंबर को ही 49.00 एमएम बारिश हो गई है। बुधवार को हुई बारिश का आंकड़ा नहीं मिल सका। लेकिन बुधवार को हुई बारिश से यह साफ है कि मंगलवार से अच्छी बारिश हुई है। इससे उम्मीद लगाई जा रही है कि बुधवार की बारिश मिला कर अब तक 130 एमएम बारिश हुई होगी। इतनी बारिश होने के बाद किसानों का कहना है कि पितृपक्ष में ऐसी बारिश होना शुभ संकेत है। क्योंकि इस पक्ष में धूप के चलते धान के पौधे काफी प्रभावित होते हैं। ऐसे में बारिश ने फिलहाल इस चिता को दूर कर दिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस