जिले के मध्य व प्राथमिक विद्यालयों में संचालित एमडीएम योजना की राज्य मुख्यालय से आइवीआरएस सिस्टम के तहत प्रतिदिन प्रधानाध्यापक के यहां कॉल कर जानकारी ली जाती है। लेकिन कई प्रधानाध्यापक इस सूचना को देने में रुचि नहीं ले रहे हैं। एमडीएम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को राज्य मुख्यालय से जिले के 10 प्रखंड क्षेत्रों के अंतर्गत आने वाले कुल 1116 स्कूलों के प्रधानाध्यापक को कॉल किया गया। जिसके आलोक में केवल 707 विद्यालयों के प्रधानाध्यापक ने एमडीएम की सूचना उपलब्ध कराई है। 409 विद्यालयों के प्रधानाध्यापक द्वारा जवाब नहीं देने की बात सामने आई है। जवाब नहीं देने की लापरवाही को गंभीरता से लेते हुए डीपीओ एमडीएम यदुवंश राम ने जवाब नहीं देने वाले सभी प्रधानाध्यापक से स्पष्टीकरण मांगा है। उन्होंने कहा कि लगातार सूचना नहीं देने वाले प्रधानाध्यापकों को चिह्नित किया जा रहा है। उनके विरुद्ध विभागीय कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध में जानकारी देते हुए डीपीओ ने बताया कि आइवीआरएस सिस्टम से राज्य मुख्यालय से प्राप्त की जाने वाली जानकारी में किसी प्रकार की लापरवाही ठीक नहीं है। सभी एचएम को अपने-अपने विद्यालयों की जानकारी हर हाल में उपलब्ध कराना है। उन्होंने कहा कि जिले के 1203 विद्यालयों में एमडीएम योजना का संचालन किया जा रहा है। जिसमें से 39 विद्यालयों में एनजीओ के द्वारा एमडीएम की आपूर्ति की जाती है। शेष विद्यालयों में रसोईयों के माध्यम से विद्यालय में भोजन बना कर बच्चों के बीच दिया जाता है। एमडीएम की लगातार जांच पड़ताल कर मॉनीटरिग की जाती है।

प्रखंडवार कॉल करने वाले विद्यालयों की सूची

प्रखंड - कॉल किए गए- जवाब देने वाले एचएम

भभुआ - 221 - 154

रामपुर - 83 - 51

चैनपुर - 130 - 75

चांद - 92 - 57

दुर्गावती - 85 - 50

मोहनियां - 147 - 102

रामगढ़ - 78 - 61

नुआंव - 69 - 51

कुदरा - 119 - 80

अधौरा - 92 - 26

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप