जिले के प्राथमिक व मध्य विद्यालयों में एमडीएम निदेशालय के निर्देशानुसार पोषण वाटिका का निर्माण कर उसमें हरी सब्जियां उगाई जाएंगी। इसको लेकर पूर्व में विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है। अब विद्यालयों में पोषण वाटिका निर्माण के लिए कवायद शुरू कर दी गई है। स्कूलों में कृषि केंद्र के वैज्ञानिक व कृषि विभाग के पदाधिकारी पहुंच कर मिट्टी की जांच कर विद्यालय के शिक्षकों को वैज्ञानिक तरीके से उत्पादन लेने की जानकारी देंगे। इस संबंध में जानकारी देते हुए एमडीएम के जिला प्रबंधक विजय कुमार ने बताया कि पोषण वाटिका के लिए वैसे प्राथमिक व मध्य विद्यालयों का चयन किया गया है जिनके पास निर्धारित भूमि उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि जिले के 11 प्रखंड क्षेत्रों के अंतर्गत 108 विद्यालयों का चयन किया गया है। जिसमें पोषण वाटिका का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पोषण वाटिका निर्माण के संबंध में सभी चयनित विद्यालयों को विद्यालय अनुदान कोष की राशि से चार-चार हजार रुपये की राशि उपलब्ध करा दी गई है। ताकि उक्त राशि से वाटिका के लिए कृषि उपकरण की खरीदारी की जाए। उन्होंने कहा कि जिले के चैनपुर प्रखंड क्षेत्र के अंतर्गत सबसे अधिक 21 विद्यालयों का चयन किया गया है। जबकि अधौरा प्रखंड क्षेत्र के एक विद्यालय का पोषण वाटिका निर्माण के लिए चयन किया गया है।

प्रखंडवार विद्यालयों की संख्या -

अधौरा - एक

भभुआ - 18

भगवानपुर - 15

चैनपुर - 21

चांद - 8

दुर्गावती - 6

कुदरा - 4

मोहनियां - 15

नुआंव - 6

रामगढ़ - 8

रामपुर - 6

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप