जाटी: भभुआ (कैमूर)

जिले के मोहनियां अनुमंडल के अकोढ़ी, रामगढ़ के सिझुआ, नोनार, महुअर, दुर्गावती के खड़सरा, नुआंव के चंडेश तथा कुदरा प्रखंड के सिसवार, भदौला आदि पंचायतों में शुक्रवार को जिलाधिकारी अरंिवद कुमार सिंह ने भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केन्द्र (मनरेगा भवन) के निर्माण का कार्य प्रारंभ कराया। उन्होंने मोहनियां प्रखंड के अकोढ़ी मेला पंचायत के रजियाबांध एवं दुर्गावती प्रखंड के खड़सरा पंचायत के महमुदगंज गांव में शुक्रवार को मनरेगा भवन की आधार शिला रखने की शुरूआत की। दस लाख की लागत से चार माह में मनरेगा भवन बनकर तैयार होगा। शिलान्यास के बाद जिलाधिकारी ने ग्रामीणों के साथ बैठक की। विकास समिति का गठन कराया। अपने संबोधन में कहा कि विकास के लिए एकजुटता और जागरूकता जरूरी है। व्यस्तता के बावजूद हर व्यक्ति गांव के विकास के लिए सप्ताह में एक दिन का समय दे हर गांव के 50 प्रतिशत प्रबुद्ध नागरिक अगर विकास पर ध्यान दे तो भी कम नहीं है। जागरूकता से ही भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा। गांव-गांव तक सुधारवादी आंदोलन चलाया जाय तभी शांति समृद्धि आएगी। लोग संगठित होकर समस्या का समाधान करे। हरगांव में दस दस कर्मठ और ईमानदार व्यक्तियों की विकास समिति बनाने का प्रयास किया जा रहा है। जनप्रतिनिधियों की शिकायत थी कि कब्रिस्तान की घेराबंदी होने के बाद भी इस मद का पैसा नहीं मिला। बीडीओ पंस की बैठक में पारित योजनाओं का अग्रिम भुगतान नहीं कर रही है। इस पर डीएम ने बीडीओ सुनीता स्नेहा से कारण पूछा तथा तत्काल चेक निर्गत करने का निर्देश दिया। इस मौके पर डीआरडीए के निदेशक विवेकानंद झा सहित संबंधित प्रखंड के बीडीओ व पीओ मौजूद थे। मोहनियां में मनरेगा के कार्यक्रम पदाधिकारी प्रसून कुमार, पंचायत के मुखिया उदय नाथ पांडेय, सरपंच राजेश पांडेय, जेई कामेन्द्र कुमार व दुर्गावती में मुखिया आशिया खातून, छविलाल राम, मुस्तफा खां, परवेज, शमीम, शौकत, विजेन्द्र, इमामुद्दीन सहित रोजगार सेवक एवं ग्रामीण उपस्थित थे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर