जाटी: भभुआ (कैमूर)

महाशिवरात्रि के अवसर पर रविवार को जिला मुख्यालय सहित मोहनियां, रामगढ़, नुआंव, कुदरा, दुर्गावती, रामपुर, भगवानपुर, चांद, चैनपुर, अधौरा प्रखंड के सभी शिवालयों और मंदिरों में हर हर महादेव की गूंज सुनायी पड़ी। शिव मंदिरों में जलाभिषेक के लिए हजारों की संख्या में महिलाओं -पुरुषों तथा शिव भक्तों की टोली सुबह से ही एकत्र होने लगी। नगर के देवी मंदिर चमन लाल पोखरा एवं पूरब पोखरा स्थित मंदिरों में भी दर्शनार्थियों की भीड़ लगी रही। नगर के एमबी आवासीय पब्लिक स्कूल में शिव चर्चा का आयोजन किया गया जिसमें काफी श्रद्धालु भाग लिये। शिव चर्चा में रामनाथ पाल, नागेन्द्र श्रीवास्तव, चंद्रशेखर गिरि, काशीनाथ सिंह, बेचन सिंह, सुनील दत्त पांडेय, प्रदीप श्रीवास्तव, जानकी कुंवर आदि शामिल थी। मुण्डेश्वरी धाम में लगभग 25 हजार की संख्या में उपस्थित श्रद्धालु पंचमुखी शिवलिंग पर जलाभिषेक के लिए आतुर दिखे। वहीं रामगढ़ स्थित बैजनाथ धाम में भी लगभग 20 हजार श्रद्धालु रुद्राभिषेक व जलाभिषेक के लिए सुबह से ही जमे रहे। यूपी के गाजीपुर जिले के जमानिया तहसील के श्रद्धालु गंगा जल लेकर हर वर्ष की भांति जलाभिषेक किये। इस मौके पर सवा क्विंटल गाय के दूध से रुद्राभिषेक किया गया। रामगढ़ के पनसेरवां गांव में पंडित नथुनी तिवारी द्वारा आयोजित रुद्राभिषेक का वाराणसी के विद्वान डा. पुंडरीक शास्त्री, अश्रि्वनी तिवारी, सतीश पाठक ने वैदिक मंत्रोच्चार से पूजन संपन्न कराया। तत्पश्चात लोगों के बीच प्रसाद का वितरण किया गया।

प्राचीनतम शक्ति पीठ मुण्डेश्वरी धाम में शनिवार की शाम से ही श्रद्धालु यहां पहुंचने लगे थे। रविवार की सुबह से हजारों शिव भक्त पंक्तिबद्ध होकर अपनी बारी की प्रतीक्षा में खड़े देखे गये। महाशिवरात्रि को ऊं नम: शिवाय और बोल बम के नारों से पवरा पहाड़ी दिन भर गुंजायमान होती रही। मुण्डेश्वरी धाम के पुजारी राकेश दुबे व गोविंद पांडेय द्वारा पंचमृत से रुद्राभिषेक कराया गया। वहीं उमापुर गांव स्थित हजारा शिवलिंग के दर्शन करने को शिवभक्तों की भीड़ दिन भर लगी रही। यहां पर राम चरित मानस नवाह पाठ रुद्राभिषेक एवं चंडी पाठ का आयोजन किया गया है। साथ ही संत समागम शुरू हुआ जो 19 मार्च तक चलेगा। भगवानपुर मध्य विद्यालय के पीछे स्थित शिव मंदिर पर क्षत्रिय महासभा के प्रदेश अध्यक्ष आलोक सिंह के नेतृत्व में रुद्राभिषेक का आयोजन किया गया। महा शिवरात्रि के अवसर पर फल फूल, शकरकंद, खेर, हरा चना व गेहूं की बाली की जमकर बिक्री हुई। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए धाम में पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल व पदाधिकारी तैनात थे। प्रखंड विकास पदाधिकारी सह बिहार राज्य धार्मिक न्यास परिषद के सह सचिव राम जी पासवान ने बताया कि श्रद्धालुओं की भीड़ को ले पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल की तैनाती की गयी है। वहीं दुर्गावती के ऐतिहासिक धार्मिक स्थल कुलेश्वरी देवी धाम में स्थित पोखरे में प्राचीन शिवलिंग का पूजन करने के लिए क्षेत्र के हजारों लोग सुबह से ही पहुंच कर पूजन अर्चन की। कुदरा प्रखंड क्षेत्र में कुदरा बाजार, बिचला मठ, थाना एवं ब्लाक परिसर सहित सभी गांव में स्थित शिवमंदिरों में महाशिवरात्रि पर लोगों द्वारा दर्शन व पूजन किया गया। तत्पश्चात प्रसाद का वितरण किया गया। कई स्थानों पर अखंड हरिकीर्तन का आयोजन किया गया। गजराढ़ी गांव में रविवार को राम भक्त माता शेबरी की प्रतिमा को स्थापित कर पूजन अर्चन किया गया तथा प्रसाद का वितरण किया गया। रामपुर प्रखंड क्षेत्र के बड़वा पहाड़ स्थित भगवान भोले शंकर का जलाभिषेक कर पूजा अर्चना की गयी। पूजा अर्चना में हजारों लोग शामिल रहे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर