जमुई, संवाद सहयोगी। बिहार में सरस्वती पूजा के लिए चंदा देने को लेकर खूब जोर-जबरदस्ती की जा रही है। मन मुताबिक चंदा नहीं देने पर लोगों को विरोध और मारपीट का सामना करना पड़ता है। नवादा में चंदा के तौर पर एक हजार रुपए नहीं देने पर युवकों ने एक टोटो चालक की पीट-पीटकर हत्या कर दी। अब चंदा के नाम पर गुंडागर्दी का एक अन्य मामला जमुई से सामने आया है। सरस्वती पूजा के लिए मन मुताबिक चंदा नहीं मिलने पर कुछ लोगों ने एक सरकारी विद्यालय में तोड़फोड़ की और शिक्षकों को भी धमकाया।

शिक्षकों को धमकाने के साथ कार्यालय में ताला जड़ा

घटना मंगलवार की बताई जाती है। घटना का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। बताया जाता है कि खैरा थाना क्षेत्र के नवीन प्राथमिक विद्यालय बोधीठीका गांव में सरस्वती पूजा का मनमाफिक चंदा नहीं दिए जाने के बाद एक शरारती युवक ने न केवल विद्यालय में तोड़फोड़ की, बल्कि शिक्षकों को धमकाने के साथ कार्यालय में ताला भी जड़ दिया। घटना के बाबत विद्यालय प्रभारी प्रतिभा कुमारी ने केस दर्ज कराने के लिए खैरा थाने में लिखित आवेदन दिया है।

जबरन छह हजार की मांग पर अड़े थे युवक 

पुलिस को दिए आवेदन में प्रतिभा कुमारी ने कहा है कि गांव के कुछ लोगों द्वारा सरस्वती पूजा का आयोजन किया जा रहा है। उन्हीं लोगों द्वारा विद्यालय पहुंचकर चंदे की मांग की गई। एक युवक छह हजार रूपया चंदा मांग रहा था। इतना पैसा देने में असमर्थता जताने पर युवक सुबोध कुमार उग्र हो गया और मुझे विद्यालय परिसर से बाहर निकाल कार्यालय में ताला लगा दिया। साथ ही विद्यालय के सामान को तोड़कर बाहर फेंक दिया। इतना ही नहीं उसने समर्सिबल मोटर का स्टार्टर और चापाकल का सामान तोड़कर बाहर फेंक दिया। थानाध्यक्ष सिद्धेश्वर पासवान ने बताया कि आवेदन के आलोक में केस दर्ज कर मामले की छानबीन की जा रही है।

Edited By: Aditi Choudhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट