जमुई। महाकवि राम इकबाल सिंह राकेश साहित्य परिषद छात्रों के साहित्यिक, सांस्कृतिक विकास में अपनी अहम भूमिका निभा रही है। निरंतर विभिन्न साहित्यिक प्रतियोगिताओं से छात्रों की भाषिक दक्षता बढ़ रही है। उक्त बातें सिमुलतला आवासीय विद्यालय में महाकवि राम इकबाल सिंह राकेश साहित्य परिषद के तत्वावधान में चल रहे हिंदी पखवारा के आठवें दिन आनलाइन वर्तनी व चित्र प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता के परिणाम की घोषणा करने के क्रम में प्राचार्य डा. राजीव रंजन ने कही।

उन्होंने कहा कि इस प्रयास से बच्चों में संस्कार की प्रतिष्ठापना हो रही है। बच्चे भविष्य में संपूर्ण नागरिक बनकर समाज और राष्ट्र की सेवा कर सकेंगे। प्राचार्य डा. रंजन ने परिषद के संयोजक व हिंदी शिक्षक डा. सुधांशु कुमार को साधुवाद देते हुए कहा कि कोविड कारणों से विद्यालय से अनुपस्थित छात्रों के बीच भी जिस प्रकार निरंतर साहित्यिक प्रतियोगिताएं संचालित हो रही है इसके लिए इन्हें साधुवाद। विद्यालय के शैक्षणिक प्रमुख व उपप्राचार्य सुनील कुमार ने कहा कि विद्यालय में महाकवि राम इकबाल सिंह राकेश साहित्य परिषद एक अनूठा प्रयोग है जो छात्रों में साहित्यिक-सांस्कृतिक व ऐतिहासिक समझ विकसित करने में प्रयासरत है। आनलाइन वर्तनी व चित्र प्रश्नोत्तरी स्पर्धा में प्रथम स्थान विक्की एवं अभिषेक, दूसरा स्थान राखी एवं अमित और तीसरा स्थान काजल ने प्राप्त किया। विद्यालय में निर्बाध गति से संचालित हो रहे हिन्दी पखवारा के संयोजक डा. सुधांशु कुमार ने बताया कि कल विद्यालय के छात्रों के बीच आदर्श काव्य पाठ प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी जो आफलाइन व आनलाइन दोनों माध्यमों से होगी। धन्यवाद ज्ञापन के क्रम में शिक्षक डा. आरएन पांडेय ने बताया कि आनलाइन साहित्यिक प्रतियोगिताओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्रों को विद्यालय आने पर परिषद द्वारा साहित्यिक पुस्तकें देकर पुरस्कृत किया जाएगा। इस अवसर पर विजय कुमार, जयंत कुमार, जितेंद्र कुमार पाठक, पराग कुमार सिन्हा, रंजय कुमार, कुमारी पुष्पा, अनिता मिश्रा, डा. प्रवीण कुमार सिन्हा, वर्षा कुमारी, कुमारी नीतू, बंटी पांडेय, प्रज्ञेश बाजपेयी, अश्विनी मिश्रा, राधाकांत मिश्रा, विनोद कुमार यादव आदि शिक्षक मौजूद थे।

Edited By: Jagran