जमुई। 24 से 30 नवंबर तक नक्सली संगठन द्वारा शहीद सप्ताह मनाए जाने की घोषणा के बाद रेल पुलिस से लेकर आरपीएफ एवं लोकल पुलिस सतर्क हो गई है। वहीं किउल-झाझा-जसीडीह रेलखंड के उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र में नक्सली गतिविधि तेज हो जाने की भी सूचना मिल रही है। लिहाजा रेल प्रशासन से लेकर सुरक्षा बलों द्वारा उक्त रेलखंड पर विशेष चौकसी की जा रही है। बताया जाता है कि भाकपा माओवादी नक्सली संगठन द्वारा अपने शीर्ष नेता कोटेश्वर राव उर्फ किशनजी की पुण्यतिथि के अवसर पर प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी 24 से 30 नवंबर तक नक्सल प्रभावित राज्य बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ आदि राज्यों में शहीद सप्ताह मनाने की तैयारी है जिसमें विशेषकर बिहार के किउल-झाझा-जसीडीह रेलखंड पर नक्सली गतिविधि होने की सूचना पुलिस को मिली है। ज्ञात हो कि उक्त रेलखंड के अंतर्गत आने वाले कई हॉल्ट पर नक्सली संगठन के मारक दस्ते की गतिविधि पहले भी देखी गई थी जिसको ध्यान में रखते हुए उक्त रेलखंड से होकर गुजरने वाली ट्रेनों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इस मामले में हाजीपुर के मुख्य सुरक्षा आयुक्त ने सभी डिवीजन के आरपीएफ कमांडेंट से वस्तुस्थिति पर रिपोर्ट मांगी है। इस संदर्भ में आरपीएफ के सहायक सुरक्षा आयुक्त अमित गुंजन ने कहा कि शहीद सप्ताह को लेकर सतर्कता बरते जाने की हिदायत दी गई है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021