जमुई। शहर के विकास के नाम पर नगर परिषद में वित्तीय वर्ष 2017-18 एवं 2018-19 में करोड़ों की योजना पास की गई। नगर परिषद क्षेत्र में जलजमाव, कचड़ा निष्पादन जैसी समस्या अक्सर सुनने को मिलती है। कचड़ा निष्पादन का स्थान गुगुलडीह में चिन्हित किया गया है लेकिन अभी तक उसकी रजिस्ट्री नहीं हो सकी है। स्वच्छता मिशन योजना के तहत करोड़ों की लागत से खरीदा गया ट्रक हूक लोडर मशीन (कचड़ा संग्रह कर निष्पादन की मशीन) बेकार पड़ा है। इस संबंध में नप के कार्यपालक पदाधिकारी अर¨वद पासवान ने बताया कि इसके लिए अभी सिविल वर्क बाकी है। इस मशीन का उपयोग करने के लिए 25-30 लाख की लागत से एक बेसिक प्लेटफार्म बनाया जाएगा। इसके लिए टेंडर निकाला जाएगा। इसके बाद ही इस मशीन का उपयोग किया जा सकेगा।

-----------------------

नगर परिषद का सहयोग करें तभी होगा शहर का विकास :

नप पदाधिकारी ने कहा कि हालांकि नगर परिषद के कर्मचारी इस काम में लगे रहते हैं लेकिन आम लोगों का भी दायित्व बनता है कि अपने में सुधार कर शहर की साफ सफाई में नगर परिषद को सहयोग करें तभी शहर का विकास संभव होगा। अपने घरों के गीले एवं सूखे कचड़े को एक निश्चित स्थान पर रखें ताकि नगर परिषद के कर्मचारियों द्वारा उसका निष्पादन किया जा सकेगा। इससे शहर की सफाई संभव हो सकेगा।

Posted By: Jagran