जमुई। राष्ट्रीय कृषि ग्रामीण विकास बैंक बिहार के महाप्रबंधक एसएस साहा का दो दिवसीय कार्यक्रम जमुई में मंगलवार को संपन्न हो गया। चैनल पार्टनर तथा नाबार्ड के हितधारियों के साथ बैठक से कार्यक्रम की शुरुआत हुई। लंबी बैठक के बाद उन्होंने मुंगेर-जमुई सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक जमुई तथा बिहार ग्रामीण बैंक खैरमा का निरीक्षण किया। तदुपरांत अग्रणी बैंक कार्यालय पहुंचकर एलडीएम मिथिलेश कुमार से जिले की बैं¨कग व्यवस्था, ऋण प्रवाह, सूचना संग्रहण व लक्ष्य वितरण की जानकारी प्राप्त की। इस दौरान उन्होंने बैंक अधिकारियों को बैं¨कग सेवा का विस्तार करने, रिकवरी वसूली, जिम्मेवारी निर्वहन एवं व्यापार बढ़ाने पर जोर दिया। महाप्रबंधक ने नाबार्ड प्रायोजित योजनाओं को क्रियान्वित करने की जानकारी ली तथा दिशा-निर्देश दिया। जिसमें वित्तीय समावेशन व ऋण वापसी हेतु लोगों को जागरूक करने पर बल दिया गया। अंत में खैरा प्रखंड अंतर्गत जन विकास समिति द्वारा निर्मित जल छाजन परियोजनाओं का निरीक्षण किया। महाप्रबंधक ने कहा कि जल संचयन व पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ आधारभूत संरचना के क्षेत्र में नाबार्ड द्वारा किए जा रहे कार्यों को सफलतापूर्वक आम आदमी तक पहुंचाने की जरूरत है। उन्होंने लोगों की वित्तीय स्थिति मजबूत करने के लिए हर आदमी को बैंक से जोड़ने की जिम्मेवारी का भी बैंक अधिकारियों व हितधारियों को एहसास कराया। हितधारकों की बैठक में डीडीएम नाबार्ड अनिल कुमार के अलावा परिवार विकास के भावानंद, जन विकास समिति के रामाशीष ¨सह, अशोक ¨सह, तरुण कुमार साहा, नंदलाल ¨सह सहित अन्य लोग मौजूद थे।

Posted By: Jagran