जमुई। सहरसा के महार गांव से भागी नाबालिग छात्रा को जमुई जीआरपी ने बुधवार को जमुई रेलवे प्लेटफार्म पर घूमते पकड़ लिया। पूछताछ में लड़की ने अपना नाम शकीला खातून (13) पिता मो. मुश्ताक, साकिन महार, वार्ड नं 13 जिला सहरसा बताई। उसने बताया कि 13 मार्च को मां की डांट के बाद शाम 4 बजे वह घर से निकल पड़ी। सहरसा से वह ट्रेन से पटना पहुंची और उसके बाद किसी दूसरी ट्रेन पकड़कर जमुई स्टेशन। वहां वह डाउन प्लेटफार्म पर घूम रही थी। इसी बीच खैरा में कार्यरत एसएसबी जवान राजू कुमार ¨सह की नजर उस पर पड़ी। उसे संदिग्ध स्थिति में घूमते देख उसने उसे जीआरपी के हवाले कर दिया। लड़की ने बताया कि वह गांव के उर्दू मध्य विद्यालय में वर्ग छह की छात्रा है। जीआरपी थानाध्यक्ष भगवान प्रसाद ¨सह ने बताया कि पूछताछ के दौरान लड़की के दिए मोबाइल नंबर से उसकी मां शकीला खातून से बात हुई। उसकी मां ने स्वीकार किया कि पढ़ाई-लिखाई की बात पर डांटने की वजह से वह घर से बिना बताए निकल पडी और जमुई स्टेशन पहुंच गई। मां ने बताया कि वह अपनी बेटी को लेने जमुई आ रही है। थानाध्यक्ष ने बताया कि छात्रा को चाइल्ड लाइन जमुई को सुपुर्द कर दिया गया है।

By Jagran