जमुई [जेएनएन]। दूल्‍हा शादी करने लड़की के घर पहुंच, लेकिन दुल्‍हन को यह मंजूर नहीं था। मामला इतना उलझा कि वह विवाह मंडप से सीधे पुलिस हिरासत में जा पहुंचा। घटना जमुई के खैरा थाना क्षेत्र के नीमनवादा पंचायत के एक गांव की है।

जानकारी के अनुसार गांव में एक नाबालिग लड़की के परिजन उसकी शादी करना चाहते थे। लड़की अभी शादी नहीं करना चाहती थी। वह पढ़-लिखकर बालिग होने के बाद ही शादी करना चाहती थी। उसने परिजनों से अपनी बात कही, लेकिन किसी ने नहीं सुनी।

परिजनों ने 13 वर्षीया लड़की की शादी 15 वर्षीय लड़के से तय कर दी। फिर, नाबालिग दुल्‍हा बरात लेकर लड़की के घर भी पहुंच गया। लेकिन, लड़की ने शादी से इन्‍कार कर दिया। इस बीच किसी तरह पुलिस को इसकी जानकारी हो गई। ठीक शादी के पहले पहुंची पुलिस ने शादी को रोक दिया। पुलिस ने दूल्हे तथा उसके पिता को हिरासत में ले लिया। पुलिस आने पर वर-वधू पक्ष के दर्जनों लोग फरार हो गए।

थानाध्यक्ष दलजीत झा ने बताया कि दुल्हा तथा उसके पिता को हिरासत में लिया गया है। उन्होंने बताया कि इसके पहले भी खैरा थाना क्षेत्र में तीन जोड़ी बाल विवाह रोकने में पुलिस कामयाब हुई थी। जिले भर में बाल विवाह रोकने की यह चौथी घटना है।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप