जमुई। बुधवार को नगर बोर्ड के सदस्यों की बैठक नगर अध्यक्ष ¨पकी देवी की अध्यक्षता में हुई। जिसमें वार्ड सदस्यों ने कई बिन्दु पर चर्चा की। नगर पंचायत के 22 वार्ड में गली-नली योजना के तहत 42 योजनाओं को स्वीकृति दी गई। जिसमें 2 करोड़ 71 लाख 30 हजार रुपये खर्च होने हैं, जबकि नल-जल योजना अब 22 वार्डों में प्रारंभ कर दिया गया है। कार्यपालक पदाधिकारी विनोद कुमार ने बताया कि नगर के 22 वार्ड ओडीएफ घोषित होने के बावजूद शौचालय निर्माण का कार्य होते रहेगा। उन्होंने सभी वार्ड पार्षदों से अपील करते हुए कहा कि अपने अपने वार्ड के व्यवसायियों को जागरूक करते हुए ट्रेड लाइसेंस लेने के लिए प्रेरित करें। नगर की साफ-सफाई के लिए दो जेसीबी, एक ट्रैक्टर खरीदने का निर्णय लिया गया। नगर उपाध्यक्ष संजय यादव ने प्रत्येक वार्ड में स्थित जर्जर तार को कवर तार में तब्दील करने की बात कही। वार्ड 14 के जर्जर तार की सूचना विद्युत विभाग के सहायक अभियंता को दी। जिसपर कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि इसके लिए डीएम को पत्र लिखा गया है। वार्ड पार्षद कालीकांत साव ने वार्ड 17 एवं 18 में नाली एवं सड़क के अलावा प्रधानमंत्री आवास योजना एवं शौचालय की समस्याओं को रखा। जिसपर कार्यपालक पदाधिकारी ने जल्द विकल्प निकालने की बात कही। वार्ड सदस्य सुबोध केशरी एवं दिनेश कुमार ने सफाई को लेकर डस्टबीन की व्यवस्था करते हुए एक पुस्तकालय की स्थापना स्व. भीम प्रसाद केशरी के नाम करने का निर्णय लिया। कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि सफाई को लेकर एनजीओ के अवधि का विस्तार करने के अलावा बिजली मिस्त्री रखने के साथ-साथ नगर के विवाह भवन, आश्रय स्थल एवं प्रशासनिक भवन के लिए गार्ड रखने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि नगर पंचायत क्षेत्र अंतर्गत भवन का निर्माण के लिए नक्शा पारित नहीं कराया जा रहा है। अब नक्शा पारित कराना अनिवार्य है। हो¨ल्डग टैक्स के मामले में सभी वार्ड सदस्यों का जागरूक होने की अपील की गई। मार्च तक नगर के लक्ष्य डेढ़ करोड़ को पूरा करना है। जिसके लिए विभिन्न वार्डों में शिविर लगाया जाएगा। इसके अलावा बैठक में 10 हजार छोटा डस्टबीन एवं 100 बड़ा डस्टबीन खरीदने एवं चार कम्प्यूटर व आलमीरा खरीदने का निर्णय लिया गया। मौके पर नगर उपाध्यक्ष संजय यादव, विद्युत विभाग के सहायक अभियंता आर दूबे, कालीकांत साव, सुबोध केशरी, दिनेश कुमार, शबाना खातून, बिटू खा, ओकार पासवान सहित सभी वार्ड पार्षद उपस्थित थे।

--------------

नगर पंचायत पर है 60 लाख का बकाया :

बैठक में पहुंचे विद्युत विभाग के सहायक अभियंता आरके दूबे ने बताया कि स्ट्रीट लाइट एवं हाइमास्ट लाइट सहित अन्य का नगर पंचायत पर विभाग का 60 लाख बकाया है जिसको जल्द देने की बात कही। नगर पंचायत के टाउन हॉल, शौचालय सहित अन्य कई जगहों पर विद्युत कनेक्शन नहीं हुआ है जहां जल्द कनेक्शन लेने की अपील की गई। उन्होंने बताया कि 11 हाइमास्ट लाइट है जिसमें अभी तक मीटर नहीं लगा हुआ है और अधिकांश हाइमास्ट लाइट दिन में भी जलते नजर आते हैं जिसमें स्विच एवं बोर्ड लगाने की बात कही गई। नगर के कई ट्रांसफार्मर के नीचे दुकान लगी हुई है जिसको हटाया जाए नहीं तो किसी दिन बड़ी दुर्घटना हो सकती है। इस दौरान नगर के कार्यपालक पदाधिकारी विनोद कुमार ने कहा कि जहां विद्युत कनेक्शन नहीं है वहां का भी बिल भेजा जा रहा है। इस मामले में नगर विकास के प्रधान सचिव ने ऊर्जा सचिव से पत्र लिखकर स्ट्रीट लाइट एवं हाईमास्ट लाइट का बिल नहीं लेने की बात कही गई है। इस बिल में संशोधन किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि नगर पंचायत का विद्युत विभाग पर पांच लाख से अधिक का टैक्स बकाया है जिसको अभी तक जमा नहीं किया गया है।

Posted By: Jagran