जमुई। मध्य विद्यालय लछुआड़ के प्रधानाध्यापक की मनमानी के खिलाफ शनिवार को विद्यालय परिसर में आठवीं के छात्र-छात्राओं ने हंगामा किया।

दरअसल, प्रधानाध्यापक वसंत कुमार छात्र-छात्राओं को मुख्यमंत्री परिभ्रमण यात्रा को लेकर सुबह 6 बजे विद्यालय बुलाया था। इसके पूर्व ही वे 25 से 30 छात्र-छात्राओं को लेकर रवाना हो गए। हंगामा कर रहे छात्रों में मनीष कुमार, ललन कुमार, सोनू कुमार, चंदन, दीपक के साथ छात्रा रुपाली, प्रीति, सोनम ने बताया कि लछुआड़ से बस खुलने के बाद जब प्रधानाध्यापक को फोन किया तो उन्होंने सिकंदरा आने की बात कही। इस पर 10 से 12 छात्र-छात्रा ऑटो रिजर्व कर सिकंदरा पहुंचे तो देखा कि बस नहीं है। फिर जब फोन लगाया तो प्रधानाध्यापक ने डांटते हुए वापस लौट जाने की बात कही। इसके बाद छात्र-छात्राओं ने थाना पहुंच प्रधानाध्यापक की मनमानी की शिकायत की। पुलिस द्वारा सभी छात्र-छात्राओं को लछुआड़ पहुंचाया गया। छात्र-छात्राओं ने आरोप लगाया कि परिभ्रमण दल में सबसे अधिक लड़कियां ही शामिल थीं, जबकि लड़कों की संख्या कम थी। विभाग द्वारा यह निर्देशित है कि परिभ्रमण दल में छात्राओं की सुरक्षा के साथ उसकी देखभाल को लेकर महिला शिक्षिका का रहना अनिवार्य है। विद्यालय प्रभारी शिक्षिका को नहीं ले गए। शिक्षिका से पूछे जाने पर बताया कि इसकी जानकारी नहीं दी गई। छात्रों ने बताया कि कभी भी मेनू के अनुसार खाना नहीं खिलाया जाता है। रसोइया सविता देवी, चंद्रवती देवी, जयमंती देवी ने बताया कि मेनू में कटौती कर मुझे खाना बनाने के लिए मजबूर किया जाता है।

--

कोट

प्रधानाध्यापक द्वारा ऐसी हरकत की गई है और परिभ्रमण दल में एक भी शिक्षिका को अगर शामिल नहीं किया गया है तो जांच कर विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

- विजय कुमार हिमांशु, जिला शिक्षा पदाधिकारी, जमुई

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस