जमुई। बहुप्रतीक्षित कुंडघाट जलाशय योजना के चल रहे निर्माण कार्य का चीफ इंजीनियर भागलपुर शैलेंद्र कुमार ने कार्यस्थल पर पहुंचकर निरीक्षण किया। इस दौरान निर्माण कार्य में खामियों को लेकर कई आवश्यक सुझाव कार्यपालक अभियंता व सहायक अभियंता को दिया।

चीफ इंजीनियर ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से निर्माण कार्य की गति में शिथिलता आई है, लिहाजा बांध का कार्य पूर्ण होने के करीब होता। उन्होंने बताया कि जलाशय योजना का निर्माण कार्य अभी तक 35 प्रतिशत हुआ है। वहीं मिट्टी का कार्य लगभग 75 प्रतिशत पूरा हो चुका है। चीफ इंजीनियर ने बताया कि बांध की ऊंचाई 128 फीट जिसमें 118 फीट का कार्य पूर्ण हो चुका है। अगर मानसून का साथ रहा तो शेष बचे 10 फीट ऊंचाई का कार्य भी पूर्ण करा लिया जाएगा। जलाशय योजना का निर्माण कार्य कब तक पूरा होगा इस पर उन्होंने 2021 तक पूरा होने की बात बताई। कुंडघाट जलाशय निर्माण कार्य में अनियमितता को लेकर पिछले दिनों किसान संघर्ष समिति के दर्जनों किसानों द्वारा कार्यस्थल का जायजा लिया गया था। जिसमें निम्न बिदुओं पर खामियां नजर आई थी। जिसे लेकर किसानों ने मुख्यमंत्री से लेकर जल संसाधन मंत्री व चीफ इंजीनियर को आवेदन भेजकर कार्रवाई की मांग की गई थी। इसी के मद्देनजर चीफ इंजीनियर ने स्वयं कार्यस्थल पर आकर जायजा लिया गया। इस मौके पर कार्यपालक अभियंता राजेंद्र प्रसाद गौड़ समेत अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस