जमुई। फॉरेंसिक टीम के निदेशक के आदेश के आलोक में देर संध्या को फोरेंसिक टीम के वरीय वैज्ञानिक अरुण तिवारी के साथ शामिल तीन सदस्यीय टीम एवं एसडीपीओ मो. नेशार अहमद शाह, पुलिस निरीक्षक जयशंकर मिश्रा, थानाध्यक्ष वीरभद्र ¨सह व अवर निरीक्षक राजेश ठाकुर के साथ घटना स्थल पर पहुंच मामले की जांच में जुट गई। एसडीपीओ नेशार अहमद शाह ने बताया कि घटनास्थल से मिट्टी के नमूने व मृत किशोरी के कपड़े पर स्पॉट आदि की जांच की गई। उन्होंने बताया कि जांच में आई रिपोर्ट के आधार पुलिस को कार्रवाई करने में आसानी होगी। गांव के ही दो लोग प्रह्लाद पासवान व मिथुन रजक ने बीते 7 जनवरी को शौच के लिए गई 12 वर्षीय किशोरी के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने के बाद पकड़ाने के डर से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। नाबालिग किशोरी हत्याकांड का मामला जंगल में आग की तरह फैल गई।

By Jagran