जमुई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को राज्य भर के कानून-व्यवस्था की समीक्षा के दौरान जमुई की भी समीक्षा करते हुए कई आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किया। स्थानीय एनआईसी कक्ष में मौजूद एसपी जे. रड्डी, उपविकास आयुक्त सतीश कुमार शर्मा, जमुई एसडीओ लखीन्द्र पासवान एवं एसडीपीओ रामपुकार ¨सह मौजूद थे। सीएम ने एसपी को निर्देशित करते हुए कहा कि थानावार कानून-व्यवस्था की समीक्षा कर उसका समाधान करें। उन्होंने त्वरित एक्शन लेने की कार्रवाई के साथ-साथ साम्प्रदायिक मामलों के त्वरित निष्पादन का भी निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने साइबर क्राइम को भी गंभीरता से लेने तथा कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। समीक्षा के दौरान सीएम ने थाने में पदस्थापित अधिकारियों में से अनुसंधान एवं कानून व्यवस्था के लिए अलग-अलग जिम्मेवारी दिए जाने की बात कही। थाने के लिए जमीन की समस्या का निराकरण के लिए उन्होंने डीएम को विशेष रूचि लेकर जमीन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। साथ ही गड्ढा अथवा अन्य किसी प्रकार की परेशानी वाले भू-खंड पर प्राक्कलन बढ़ाकर थाना भवन निर्माण कराने का भी निर्देश दिया। थाने में संसाधन की उपलब्धता सुनिश्चित करते हुए प्रत्येक थाने को दो-दो चारपहिया वाहन सहित अन्य आवश्यक-आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए भी आवश्यक कदम उठाने का निर्देश दिया है। इस दौरान सभी थाने में बीएसएनएल की लैंडलाइन टेलीफोन कनेक्शन उपलब्ध कराने की भी बात कही गई। पटना से समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री के साथ मुख्य सचिव दीपक कुमार एवं पुलिस महानिदेशक केएस द्विवेदी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Jagran