फोटो- 20 जमुई- 60

- मुख्यमंत्री का सपना हुआ साकार, - पहले साल 10वीं की परीक्षा में रचा इतिहास

[आशुतोष कुमार सिंह], जमुई :

जमुई । नेतरहाट की तर्ज पर मिनी शिमला के नाम से मशहूर सिमुलतला जैसे छोटे जगह में सिमुलतला आवासीय विद्यालय के छात्रों ने पहले ही साल मैट्रिक की परीक्षा में इतिहास रच दिया है। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा जारी किए गए मैट्रिक के रिजल्ट में बिहार के टॉप टेन 31 छात्रों में से सिमुलतला आवासीय विद्यालय के 30 छात्र-छात्राओं ने स्थान पाया है। मैट्रिक की परीक्षा में सिमुलतला आवासीय विद्यालय से 108 परीक्षार्थी शामिल हुए थे जिसमें 55 छात्र व 53 छात्राएं हैं। पहली बार मैट्रिक की परीक्षा में शामिल हुए विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने बड़ी कामयाबी हासिल की है जिसमें 487 अंक पाकर कुणाल जिज्ञासु व नीरज रंजन बिहार में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। वहीं 485 अंक लाकर अभिनव कुमार, मुकुल रंजन दूसरे स्थान पर रहे हैं। तीसरे स्थान पर संयुक्त रूप से सोनू कुमार व विवेक वैभव ने 484 अंक प्राप्त किए हैं। बिहार-झारखंड बंटवारे के बाद सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 9 अगस्त 2010 को सिमुलतला आवासीय विद्यालय का उद्घाटन किया था। सिमुलतला आवासीय विद्यालय में छठे क्लास में नामांकन के लिए लगभग 38 हजार छात्रों में से पहले बैच का चयन किया गया था।

मैट्रिक परीक्षा के टॉप टेन की सूची

नाम अंक रैंक

कुणाल जिज्ञासु 487 1

नीरज रंजन 487 1

अभिनव कुमार 485 2

मुकूल रंजन 485 2

सोनू कुमार 484 3

विवेक वैभव 484 3

मो. आकिब जावेद 483 4

प्रतिभा कुमारी 483 4

मो.अशफाक खालिद483 4

खुशबू कुमारी 482 5

अभिनव आदर्श 482 5

पल्लवी गुडान 482 5

प्रीति कुमारी 482 5

सूरज कुमार 482 5

शिवम राज 482 5

मुस्कान कुमारी 482 5

अमन कुमार 482 5

शुभम राज 481 6

साकेत कुमार 480 7

विकास कुमार 479 8

कमलेश कुमार 479 8

रोहित कुमार 479 8

कुमार आर्यभट्ट 478 9

अमन कुमार 478 9

अनुराग अंकित 478 9

विवेक कुमार 478 9

कशिश 478 9

अभिषेक कुमार 477 10

धीरज कुमार 477 10

इनसेट :

अब नहीं खलेगी नेतरहाट की कमी: डीएम

जमुई। जिलाधिकारी शशिकांत तिवारी ने सिमुलतला आवासीय विद्यालय के सभी सफल परीक्षार्थियों को बधाई देते हुए कहा कि नेतरहाट की कमी अब बिहार को नहीं खलेगी। जमुई में भी शिक्षा का स्तर इतना उपर हो चुका है कि अब यहां के छात्र-छात्राएं सूबे में टॉप टेन स्थान प्राप्त कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले वर्षो में 12 वीं की परीक्षा में भी यहां के छात्र अव्वल प्रदर्शन करेंगे।

मील का पत्थर साबित हो रहा है सिमुलतला आवासीय विद्यालय : डीईओ

सिमुलतला आवासीय विद्यालय के छात्र-छात्राओं की सफलता पर हर्ष व्यक्त करते हुए जिला शिक्षा पदाधिकारी बीएन झा ने कहा कि विद्यालय की स्थापना के बाद से ही बिहार की निगाहें उक्त विद्यालय पर टिकी थी। विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों ने टॉप टेन में स्थान बनाकर मील का पत्थर साबित किया है। उन्होंने छात्र-छात्राओं की सफलता का श्रेय विद्यालय के प्राचार्य, शिक्षकों, छात्रों तथा अभिभावकों को दिया है।