जहानाबाद। समूह बनाकर बैंक से ऋण दिलाए जाने के नाम पर पैसे की हेराफेरी किए जाने के आरोपी के खिलाफ कठोर कार्रवाई किए जाने की मांग को लेकर शनिवार को ग्रामीणों ने कलपा ओपी का घेराव किया। उनलोगों का कहना था कि उसके गांव की एक महिला ने समूह बनाया और बैंक से ऋण दिलाने के नाम पर काफी पैसा ऐंठ लिया। कुछ लोगों का यह भी कहना था कि हमलोगों को ऋण भी नही मिला और बैंक कर्मी उसकी वसूली के लिए चले आए। घेराव कर रहे लोगों का कहना था कि जो महिला भागकर ओपी में आई है उसके खिलाफ कार्रवाई हो क्योंकि उसने समूह के नाम पर गांव के लोगों के साथ धोखाधड़ी की है। हालांकि ओपी अध्यक्ष धनंजय कुमार के बुलावे पर प्रबंधक भी वहां पहुंचे और उन्होंने कहा कि उनके बैंक से लोन दिया गया है जिसकी वसूली के लिए बैंक कर्मी वहां गए थे। कलपा ओपी क्षेत्र के धरमपुर निवासी शकुंतला देवी के साथ ही अन्य महिलाओं ने कहा कि उसके गावं की प्रतिमा रानी ने समूह बनाया और उसमें 50 से 60 लोगों को शामिल किया। उनलोगों को कहा कि आपलोगों को रोजगार करने के लिए सन्नाटा सहित अन्य कई फाइनेंशियल बैंक से ऋण दिलाएंगे। ऋण दिलाए जाने के नाम पर सभी से अंगूठे का निशान लिया। जिन लोगों को ऋण दिलाया उनलोगों को पांच हजार से लेकर 10 हजार रूपए तक दिया जबकि कई लोगों को अंगूठे के निशान देने के बाद भी एक पैसा नही मिला। बैंक प्रबंधक का कहना है कि उसके द्वारा प्रत्येक लोगों को 30-30 हजार रूपए लोन दिए गए। बैंक में इसका सबूत भी मौजूद है। जब बैंक के लोग वसूली के लिए वहां पहुंचे तो वहां के लोगों के होश उड़ गए। वे लोग प्रतिमा के घर पर पहुंच गए और हंगामा करने लगे। जान बचाकर वह ओपी में भागी लेकिन ग्रामीण वहां भी पहुंच गए और हंगामा करने लगे। ओपी अध्यक्ष ने कहा कि अब तक दो-तीन लोगों द्वारा शिकायती पत्र दी गई है। जिन लोगों द्वारा भी इस प्रकार की शिकायत की जा रही है उनलोगों को भी शिकायती पत्र देने के लिए कहा गया है।शिकायती पत्र प्राप्त होते ही मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस