जहानाबाद। स्थानीय परिसदन में बुधवार को राज्यसभा सदस्य व भाजपा के वरिष्ठ नेता डॉ सीपी ठाकुर ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान प्रतिमा विसर्जन के क्रम में उत्पन्न विवाद में निर्दोष लोगों को फंसाए जाने की घटना को निदनीय करार दिया। उन्होंने कहा कि प्रशासन के लोग वीडियो फुटेज का बारीकी से अवलोकन कर गतिविधियों का आकलन करें और जो सचमुच में दोषी है उसके विरुद्ध सख्त कार्रवाई करे। उन्होंने कहा कि भाजपा के कई कार्यकर्ताओं को इस केस में फंसाया गया है। पार्टी के कार्यकर्ताओं का इस विवाद से कोई लेना देना नही था। कुछ कार्यकर्ता तो मामले को शांत करने में लगे थे लेकिन उन्हें भी मुकदमे में फंसा दिया गया है। राज्यसभा सांसद ने कहा कि इसे लेकर एसपी मनीष से मुलाकात कर पूरी बातों को रखा गया है। एसपी द्वारा भी यह आश्वासन दिया गया है कि जांचोपरांत निर्दोष लोगों को बरी कर दिया जाएगा। इस मौके पर विधान पार्षद राधामोहन शर्मा ने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ताओं को जान बूझकर फंसाने की साजिश कहीं से हुई है। हमलोग इसका आकलन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूजा समिति के लोग प्रशासन के सहयोग में थे। लेकिन उनलोगों को भी मुकदमे में फंसा दिया गया है। उन्होंने कहा कि शहर के एक वार्ड पार्षद पर भी केस किया गया है जबकि उसे इस मामले से कोई लेना देना नही था। उन्होंने कहा कि इस मामले में एक भी निर्दोष को परेशान होने नही दिया जाएगा। जो लोग घटना में शामिल नही थे उनके परिजन पूरे साक्ष्य के साथ हमसे संपर्क करें। पार्टी उनलोगों को न्याय दिलाने के लिए हर संभव कार्य करेगी। मौके पर भाजपा के जिलाध्यक्ष पूनम सिन्हा, वरिष्ठ महिला नेत्री इंदु कश्यप,भाजयुमो के जिलाध्यक्ष निरंजन कुमार बबलू, उपाध्यक्ष सुरेश शर्मा, श्रीराम दल के जिलाध्यक्ष पुरुषोत्तम राज आदि लोग मौजूद थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस